– video यातायात सप्ताह का एक दिन पहले अंत लेकिन नहीं सुधरी व्यवस्था

मेवाड़ किरण@नीमच -

नीमच। जिले में यातायात सप्ताह का आखिरी दिन समझाइश दिए है, एक दिन पूर्व कर समापन कार्यक्रम कर दिया गया। हालात यह है कि यातायात सप्ताह के दौरान सभी का नियमों की सीख देने वाले भी नियमों का उल्लघंन करते नजर आए। लगातार यातायात पुलिस की समझाइश के बाद भी हालात में कोई सुधार शहर में नहीं देखा गया।
अगर ध्यान दिया जाए तो यातायात सप्ताह में सभी नियमों की सीख दी जा रही थी, वाहन चलाने के लिए आवश्यक बाते भी बताई गई, परंतु शहर की प्रमुख समस्या पार्किंग स्थलों के बारे में कोई चर्चा या प्रयास नहीं हुआ। इसके चलते सभी प्रमुख मार्गों पर सड़कों को घेर कर अवैध पार्किंग में वाहन खड़े होना आम बात हो गई है। जिससे भी यातायात काफी प्रभावित होता है। नपा व यातायात पुलिस मिलकर अभी तक पार्किंग के लिए जगह नहीं बना पाई है। फव्वारा चौक, घंटा घर, तिलक नगर, चूड़ी बाजार सहित शहर के अन्य प्रमुख बाजारों में पार्किंग स्थल नाम का कोई स्थान नहीं है।

सड़क किनारें नहीं हुआ पार्किंग लाइन का पालन
नगर पालिका और यातायात पुलिस ने शहर की सड़कों को घेरकर खड़े होने वाले वाहनों से सड़कों को मुक्त कराने के लिए योजना बनाई। दुकानदारों को समझाइश देकर सड़क पर वाहन खड़े नहीं करने की हिदायते भी दी। पूरे शहर के प्रमुख मार्गों पर सफेद लाइन डालने की योजन बनाई गई। लेकिन अभी तक सड़क पर कोई पार्किंग लाइन नजर नहीं आती है। यातायात पुलिस ने जो सफेद लाइन बनाई है, अभी उसका पालन नहीं हो पा रहा है। कई सड़क किनारे से लाइन भी मिट चुकी है।

यातायात सप्ताह का हुआ समापन, सरपंचों को बांटे हेलमेट
एक दिन पूर्व नीमच में यातायात सप्ताह समारोह का रविवार को समापन कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दिन पुलिस की समझाइश न होकर पुलिस कार्यक्रम में जुटी रही। खासकर यातायात सप्ताह के दौरान सहयोग करने वाली कुछ संस्था और स्काउट एंड गाइड सहित पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया। वहीं जिले में ग्राम पंचायत स्तर पर हेलमेट बैंक की शुरूआत भी इस दौरान की गई। एसपी राकेश कुमार सगर ने करीब 29 ग्राम पंचायत के सरपंचों को हेलमेट बैंक के लिए दस-दस हेलमेट सौंपे। वहीं इस हेलमेट बैंक का प्रचार-प्रसार करने की बात कही। वहीं सभी को यातायात नियमों का पालन करने की बात कही। साथ ही उन्होंने हेलमेट की महत्ता को बताते हुए इसे जीवन रक्षक बताया। क्योकि सबसे अधिक मौते हैड इंजरी से होती है। जिसमें वाहन चालके सिर पर हेलमेट नहीं होने की बात सामने आती है।

सब अपनी सहूलियत के अनुसार सप्ताह का अंत करते है
ऐसा नहीं है, आज सप्ताह का अंतिम दिन है, कुछ जिलो में सोमवार को यातायात सप्ताह का अंतिम दिन मनाया जा रहा है, कुछ रविवार को कर रहे है। अपनी सहूलियत के अनुसार सप्ताह के अंतिम दिन का कार्यक्रम आयोजित करते हैं। अंतिम दिन हेलमेट बैंक के लिए 29 ग्राम पंचायत के सरपंच को हेलमेट बांटे गए है। धीरे-धीरे पूरे जिले की ग्राम पंचायत में बैंक खोली जाएगी। जिसके लिए जनसहयोग भी लिया जा रहा है। विधायक परिहार से भी दो लाख रुपए अनुदान के आने है। यातायात नियम सभी के लिए सभी को पालना करना चाहिए।
- मोहन भर्रावत, प्रभारी यातायात थाना नीमच।