VIDEO – अवैध मादक पदार्थ तस्करी में तस्दीक के दौरान पुलिस का किया ग्रामीणों ने धेराव

मेवाड़ किरण@नीमच -

नीमच। मनासा थाना क्षेत्र के कजार्डां चौकी अंतर्गत चौकड़ी गांव में मादक पदार्थ तस्करी मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर तस्दीक करने आई पुलिस का ग्रामीणों ने विरोध जीप का घेराव कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस ने मुख्य आरोपी को बचाकर अन्य पर प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई में इतिश्री कर ली है। ग्रामीणों ने दोपहर दो बजे आई पुलिस का घेराव किया और शाम आठ बजे तक घेरे रखा। इस दौरान एसडीओपी टीसी पंवार पुलिस बल लेकर गांव पहुंचे और समझाइश का दौर चला। समझाइश के बाद गांव वालों ने पुलिस को वहां से जाने दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सरवानिया चौकी प्रभारी सुनील जाटव ने पुलिस बल के साथ मुखबिर सूचना पर ८ पुरवरी को आरोपी संजय पिता राधेश्याम धाकड़ उम्र २७ वर्ष निवासी चौकड़ी गांव और घीसालाल पिता मोहनलाल धाकड़ उम्र ४० वर्ष निवासी चौकड़ी को डिकेन मोरवन आमरोड वन रक्षक भवन बसेड़ी भाटी के सामने से बाइक रोकर २२ किलो २०० ग्राम अवैध अफीम के साथ गिरफ्तार किया था। जिन्होंने बरखेडग़ा कंजार्डा निवासी प्रकाश धाकड़ और शंकर पिता जड़ावचंद धाकड़ से अफीम लाना बताया था। उसी मामले में घटनास्थल तस्दीक के लिए पुलिस दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर चौकड़ी गांव दोपहर पहुंची थी। जहां पर ग्रामीणों में आक्रोश उपज गया और उन्होंने पुलिस का घेराव कर लिया। जिसके बाद जावद थाना प्रभारी ओमप्रकाश मिश्रा भी वहां पहुंचे। उनकी भी बात नहीं मानी गई। शाम को एसडीओपी टीसी पंवार पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे और ग्रामीणों की समझाइश की और कहा दोषी पर ही कार्रवाई की जाएगी। बेकसूर को नही आरोपी बनाया जाएगा। ग्रामीणों का कहना था कि मादक पदार्थ तस्करी में मुख्य आरोपी प्रकाश धाकड़ है, जिसे पुलिस ने बाहर निकाल दिया है। वहीं घटनास्थल कंजार्डा गांव के बरखेड़ा गांव का है। प्रकाशचंद के खेत पर ही लेनदेन हुआ था। पुलिस ने घटनास्थल ही बदल दिया और मुख्य आरोपी प्रकाश धाकड़ को बचा लिया। इस बात पर ग्रामीणों का विरोध था।

 

धाकड़ को भी मुलजिम बनाया है
जावद पुलिस मादक पदार्थ तस्करी के मामले में दोनों आरोपियों को साथ लेकर घटनासथल तस्दीक के लिए चौकड़ी गांव गई थी। वहां पर ग्रामीणों ने पुलिस का घेराव कर लिया। तस्करों को डर है कि २२ किलोग्राम अफीम में कई के नाम सामने आएंगे। कार्रवाई के भय के चलते पुलिस पर दबाव बना रहे है। एसडीओपी टीसी पंवार को पुलिस बल के साथ समझाइश के लिए शाम को भेजा गया। शाम को समझाइश हो गई और मामला शांत कर दिया गया।
- जितेंद्र सिंह पंवार, एएसपी नीमच।