गला घोंटकर पत्नी की हत्या, थाने में दिया भागने का आवेदन

mewar kiran news
नीमच। एक युवक ने पहले पत्नी की गला घोंटकर हत्या की। इसके बाद पुलिस को गुमराह करने के लिए थाने में पत्नी के पड़ोसी के साथ भागने का आवेदन दे दिया। पुलिस ने 48 घंटे में मामले का खुलासा कर दिया। चरित्र शंका में पत्नी की हत्या के आरोप में पति को गिरफ्तार कर लिया।

यह खुलासा रविवार शाम को एसपी तुषारकांत विद्यार्थी ने पुलिस कंट्रोल पर कि या। एसपी ने बताया कि 21 जून की शाम सूचना मिलने पर मनासा पुलिस मौके पर पहुंची थी। भोपाली के पास सूखे तालाब में पड़े महिला के शव को पीएम के लिए पहुंचाया। जांच में सामने आया कि महिला के हाथ आगे की ओर साड़ी से पेट पर बंधे थे। साड़ी से ही गला घोंटा गया था। दूसरी ओर रामपुरा नाका मनासा के कंवरलाल काछी ने पुलिस को एक आवेदन दिया, जिसमें पत्नी रेखा के पड़ोसी के साथ भागने की शंका जाहिर की थी। महिला के शव के नजदीक मिली चप्पल, साड़ी और अन्य सामान के आधार पर पुलिस ने शंका के आधार पर भाटखेड़ी निवासी रेखा के पिता भंवरलाल काछी और रेखा की बेटियों को बुलाया। उन्होंने चप्पल और साड़ी के आधार पर रेखा के रूप में महिला की पहचान की। अंतिम संस्कार के बाद पुलिस ने रेखा के पति कंवरलाल को थाने लाकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने पत्नी की हत्या का गुनाह कबूल कर लिया। पुलिस के समक्ष कंवरलाल ने बताया कि वह चरित्र शंका करता था। 20 जून को वह पत्नी को बाइक पर भोपाली के नजदीक ले गया और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। उसके कबूलनामे के बाद पुलिस ने आरोपित कंवरलाल को गिरफ्तार कि या। वह मूल रूप से मोखमपुरा का रहने वाला है और वर्तमान में मनासा के रामपुरा नाके पर रहता था। मनासा एसडीओपी रवींद्र बोयट, प्रशिक्षु डीएसपी नागेंद्रसिंह सिकरवार, मनासा टीआई कि शोर पाटनवाला सहित अन्य मौजूद रहे।

पुलिस कार्रवाई में मनासा टीआई कि शोर पाटनवाला, एसआई डीएस चौहान, ओएल गोस्वामी, आरक्षक देवेंद्रसिंह, भूरसिंह डोडियार, राम पाटीदार, सैनिक घनश्याम, साइबर सेल के आरक्षक प्रदीप शिंदे, लखन प्रताप सिंह शामिल थे।