10701 किसान सौंपेंगे 53505 किलो अफीम

नीमच। जिले में इस बार अफीम का उत्पादन बेहतर होने की संभावना है। अफीम नीति के औसत से जिले में इस बार 53 हजार 505 किलो अफीम का उत्पादन होगा। यह अफीम जिले के लगभग 10701 किसान केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो को सौंपेंगे। अफीम के उत्पादन की वास्तविक स्थिति तौल के बाद ही स्पष्ट हो सकेगी।

मप्र में नीमच, मंदसौर व रतलाम जिले के जावरा विकासखंड में अफीम की खेती होती है। अफीम वर्ष 2017-18 में केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो ने इस बार जिले के तीनों खंडों में 11672 किसानों को अफीम की खेती का अधिकार दिया। लाइसेंस जारी कर उन्हें 10-10 आरी के खेतों में अफीम की बोवनी व फसल लेने का अधिकार दिया। 11672 लाइसेंसी किसानों ने मौसम की प्रतिकूलता व अन्य कारणों से 971 किसानों ने फसल की हंकाई के आवेदन दिए। केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो की निगरानी में फसल की हंकाई का काम किया गया। इसके बाद जिले में 10701 किसान बचे हैं, जिन्होंने चीरा लगाकर अफीम का उत्पादन किया। औसत के मान से इनका आकलन करें तो अफीम वर्ष 2017-18 में जिले में 10 हजार 701 किसान केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो को 53 हजार 505 किलो अफीम सौंपेंगे। अफीम के उत्पादन का यह आंकड़ा औसत के आधार पर है। वास्तविक आंकड़ा तौल केंद्रों पर अफीम के तौल के बाद ही केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो उजागर करेगा।