महिलाओं का समय-समय पर सम्मान ही भारतीय संस्कृति है

नीमच। महिलाएं राष्ट्र की प्रमुख धुरी हैं। आज महिलाएं सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं। महिलाओं का समय-समय पर सम्मान ही भारतीय संस्कृति का आधार है।यह बात समाजसेवी और योग गुरु शिव माहेश्वरी ने कही। वे शुभ प्रभात योग मित्र मंडल द्वारा गांधी वाटिका में विश्व महिला दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित सम्मान समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा ही सच्ची सेवा है। कार्यक्रम में योग मित्र मंडल की अध्यक्ष माधुरी चौरसिया, आयुषी डोसी, रीना पामेचा, सुनीता गुप्ता, सरिता गोयल, मंजू बम का सम्मान भी किया गया।

इस अवसर पर नवल मित्तल, गोविंद पोरवाल, महेश ऐरन, डॉ.संपत स्वरूप जाजू, भरत जाजू, मीनू लालवानी, तेजपाल जैन, भूपेंद्र पाटीदार, दिलीप छाज़ेड, हरीश दुआ, रमेश पंडित, रमेश जायसवाल,नंदू सराफ, मीरा थापा, अर्जुनसिंह जायसवाल सहित अन्य मौजूद थे।