नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं ग्रामीण

नीमच। प्रदेश सरकार गांवों में विकास की बात कहती है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिक नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। नीमच जिले के गांवों की स्थिति बेहद दयनीय है। ग्रामीणों को मूलभूत सुविधाओं के लिए भी मोहताज होना पड़ रहा है। यह बात आम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य व लोकसभा प्रभारी नवीन कुमार अग्रवाल ने कही।

वे पार्टी की मप्र संकल्प यात्रा के दौरान जिले के पिपलिया बाग, झांझरवाड़ा, धामनिया सहित अन्य गांवों का दौरा कर रहे थे। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि गांवों में सफाई व्यवस्था के साथ अन्य तरह की परेशानियां भी हैं। नालियों के अभाव में गंदा पानी मुख्य मार्गों पर बहता है। गांव में न तो स्ट्रीट लाइटें हैं और न ही पक्की सड़क की सुविधा है। इस अवसर पर आप के जिला सह संयोजक अशोक सागर, शिव उपाध्याय, तुलसीराम मेघवाल, राजेंद्र सिंह चंद्रावत, रामपाल नायक, सुरेश धनगर, लविश कनोजिया, विजय मेघवाल, बंशीलाल भील, अमृतलाल भील, नारायण भील, इमरान, आमिर सहित अन्य ग्रामीण मौजूद थे।