8 घंटे तक ईएनसी ने अमले के साथ चंबल सहित शिवना प्रोजेक्ट पर नपा के साथ किया मंथन

मंदसौर । नगरीय निकाय के ईएनसी प्रभाकांत कटारे ने चंबल से शहर तक पानी लाने की योजना में कोल्वी में बने इंटक वेल का निरीक्षण किया। उनके निरीक्षण में सामने आया कि इंटकवेल की पाइप लाइन की लेंथ सही नहीं है। इसके अलावा फूट ब्रिज पर फिनिशिंग सही नहीं की गई है। उन्होंने निरीक्षण के दौरान नदी के अंदर मेनओवर पोर्ट में मेनुअल काम करने से मना कर मशीनिरी से कार्य करने के निर्देश अधिकारियों को दिए है। जिसके लिए बाहर की कंपनी से काम करवाने की बात भी कही है। इसके साथ ही कई कमियां सामने आई है। जिसको लेकर उन्होंने सीएमओ सविता प्रधान सहित अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया है। इसके बाद उन्होंने शहर की स्वच्छता को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए।
रुकावटों का समाधान ढूंढकर निकाली राह
ईएनसी कटारे ने अधिकारियों के साथ चंबल प्रोजेक्ट को पूरा करने में आ रही रुकावटों को दूर करते हुए इस प्रोजेक्ट को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। इसमें मुख्य रुप से इंटकवेल की परेशानियों पर मंथन हुआ और लंबे समय तक चली चर्चा के बीच ठेकेदार की बाहर की कंपनी से कंसल्ट करवाया और उसे यहां आकर मशीनरी से यह काम पूरा करने की कहा। इसके बाद ठेकेदार के हिसाब से विद्युत लाईन लंबी होने के कारण अधिक खर्चीली थी। इस पर एमपीईबी के लोगों को बुलाया और उस पर भी चर्चा की। दिनभर में अब तक चंबल प्रोजेक्ट को लेकर हुए कामों पर निरीक्षण किया। पाईप से लेकर वॉल्व व इंटकवेल से लेकर अन्य सभी जगहों पर पहुंचकर देखा। करोड़ों के इस प्रोजेक्ट पर हर जगह पहुंचकर बारीकी से देखा। इसके बाद रात को बैठकों का दौर चला।नपा का पूरा अमला भी इंजीनियर इन चीफ के साथ आए अन्य अधिकारियों के अमले के साथ पूरे प्रोजेक्ट की जानकारी ली।
मंदिर में हुए शिवना प्रोजेक्ट पर चर्चा
चंबल के अलावा शिवना शुद्धिकरण का प्रोजेक्ट भी शहर के लिए बड़ा है। सीएम ने इसके लिए १२ करोड़ की घोषणा की और अब सरकार बदल गई।ऐसे में इस पर असंमजस्य है। कोल्वी में निरीक्षण से पहले ईएनसी कटारे ने भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन किए। यहां अधिकारियों से शिवना शुद्धिकरण को लेकर चर्चा की। इस पर ईएनसी ने कहा कि सीएम की घोषणा हैऔर प्रोजेक्ट मंजूर हैतो राशि आएगी और काम पूरा होगा।जो डीपीआर तैयार की गई हैउसे भेजे। इस पर आगे प्रक्रिया बढ़वाएंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि शिवना शुद्धिकरण और इसका सौंदर्यीकरण बिना सिवरेज लाईन और नदी में मिल रहे नालों को दूर करें बिना नहीं हो सकता।वर्तमान में यहां नाले के चल रहे काम की जानकारी भी दी।इसके अलावा शहर में चल रहे विभिन्न प्रोजेक्ट का निरीक्षण कर जानकारी ली। यहां कई घंटों तक चले निरीक्षण में हर एक जगह मौके पर पहुंचकर अब तक प्रोजेक्ट पर हुए कामों की वस्तुतिथि देखते हुए नपा अफसरों से जवाब किए।और निर्देश दिए।इस दौरान पशुपतिनाथ मंदिर में जमीन पर बैठकर ही शिवना सहित अन्य प्रोजेक्टों की जानकारी अधिकारियों से ली।
दर्शन कर ली प्रतिमा की जानकारी
भोपाल से मंदसौर पहुंचे ईएनसी के अधिकारी सोमवार को नपा अमले के साथ पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचे। जहां उन्होंने पहले पशुपतिनाथ के दर्शन किए। प्रतिमा की विशेषताएं व ऐतिहासिक महत्व को समझा। इसके बाद यहीं से शिवना को देखा। इस दौरान उनके साथ नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, जलकर चेयअमैन पुलकित पटवा सहित नपा सीएमओ सविताप्रधान गौड़, नपा इंजीनियर राजेश उपाध्याय भी मौजूद थे। दिनभर के बाद देररात तक डीपीआर सहित अन्य प्रोजेक्ट की डिजाईन सहित अन्य मुद्दों को लेकर बैठक चली और इन अधूरे प्रोजेक्टों को पूरा करने के लिए अड़चनों को दूर कर राह निकाली और अब इन्हें समय सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए।
सीएमओ सविता प्रधान ने बताया कि उन्होंने निरीक्षण में देखा कि इंटक वेल की पाइप लाइन की लेंथ और फूट ब्रिज पर फिनिशिंग सही नहीं है। इसके अलावा मेनओवर पोर्ट में मशीनरी से कार्य करवाने की बात कही।