तीन तस्करों को चार-चार साल का कारावास

भीलवाड़ा। विशिष्ट न्यायालय (एनडीपीएस मामलात) न्यायाधीश विक्रांत गुप्ता ने डोडा चूरा तस्करी के मामले में गुरुवार को तीन जनों को दोषी मानते हुए चार-चार साल की सजा सुनाई। वहीं 40-40 हजार रुपए जुर्माने के आदेश दिए। सजा पाने वालों में बलवंतनगर (बेंगू) निवासी कमलेश धाकड़, शोभालाल धाकड़ तथा लाभचंद धाकड़ शामिल है।

प्रकरण के अनुसार 24 जुलाई 2015 को कोटड़ी पुलिस गश्त करते हुए सवाईपुर रोड पर तालाब के निकट नाकाबंदी शुरू की। देवरिया की तरफ से वैन आई। वाहन में तीन जने थे। पुलिसकर्मियों को देखकर चालक वापस वैन घूमाकर जाने लगा। शंका होने पर पुलिसकर्मियों ने पीछा कर घेराबंदी कर वाहन रूकवा लिया। चालक से पूछताछ की तो संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। तलाशी पर उसमें एक कट्टे में 20 किलो डोडा चूरा भरा मिला। पूछताछ में नाम कमलेश, शोभालाल व लाभचंद धाकड़ बताया।

तीनों को एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार कर अदालत में चालान पेश किया गया। विशिष्ट लोक अभियोजक प्रदीप अजमेरा ने अभियुक्तों के खिलाफ 52 दस्तावेज और 17 गवाह पेशकर आरोप सिद्ध किया। तीनों को चार-चार साल की सजा सुनाई।

व्हाट्सएप्प (WhatsApp) पर शेयर करें