धन से बिस्तर खरीद सकते है, नींद नहीं ‘धाकड़’

बड़ीसादड़ी – आज व्यक्ति के पास धन है लेकिन मन में चैन नहीं है । हम धन से अच्छे – अच्छे बिस्तर तो खरीद सकते लेकिन नींद नहीं खरीद सकते है । आज के व्यक्ति का जीवन तनावपूर्ण होने के कारण उसके जीवन का एक-एक पल क्षीण – क्षीण हो रहा है । जीवन में तनाव के कारण अनेक परीवारिक रिश्ते तार – तार हो रहे हैं । हर आदमी के विलासितापूर्ण जीवन जीने की इच्छा के कारण व अनेक प्रकार के कार्यों की जिम्मेदारी के कारण भी तनाव में जीने के लिए मजबूर हो रहा है । व्यक्ति तनाव में होने से अनिद्रा, उच्च रक्तचाप व हृदयाघात जैसी घातक गम्भीर बीमारियों का शिकार हो रहा है । ऐसी स्थिति में अगर हम रोज प्रतिदिन प्रातः योग, ध्यान एवं प्राणायाम का अभ्यास करते हैं तो हम तनाव से छुटकारा पाने के साथ – साथ अनेकानेक गंभीर बीमारियों से भी मुक्ति पा सकते हैं और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं ।

यह विचार पतंजलि योगपीठ एवं देव नारायण सेवा समिति के तत्वाधान में पांच दिवसीय निःशुल्क योग शिविर के दूसरे दिन खेरमालिया में जिला योग प्रचारक कंवर लाल धाकड़ ने योगाभ्यास कराते हुए व्यक्त किए ।

धाकड़ ने कहा कि जैसे हम  बरसात को रोक नहीं सकते हैं लेकिन छाता लेकर हम बरसात मैं भीगने से बच सकते हैं । उसी तरह से योग, प्राणायाम एवं ध्यान कर के हम जीवन में अनेकानेक बीमारियों, विकारों व तनाव से पूर्णरुप से मुक्ति पा सकते हैं । योग हमारे जीवन को संतुलित कर हमें शांति और आनंद से जीना सिखाता है ।

व्हाट्सएप्प (WhatsApp) पर शेयर करें