इस क्षेत्र के आधार को जाने किसकी लगी नजर: फिर बंद हुआ आधार का ‘पिटाराÓ

उदयपुर/ झाड़ोल. आधार कार्ड को लेकर उपखण्ड क्षेत्र के ग्रामीणों की समस्याएं खत्म होती नहीं दिख रही। चाह के भी प्रशासनिक अमला व्यवस्थाओं को दुरस्त रखने में विफल साबित हो रहा है। अब तक का अनुभव रहा है कि पोस्ट ऑफिस और पंचायत समिति मुख्यालय पर लगी आधार मशीन आए दिन खराब रहती हैं। कहे तो दोनों मशीनों का संचालन एक समय में एक साथ नहीं हो पाता। समस्या को लेकर ग्रामीणों को मुख्यालय तक पहुंचने के बाद भी निराशा मिल रही है। उपखण्ड क्षेत्र की ५९ ग्राम पंचायतों में मात्र दो मशीन चल रही हैं। एक मशीन के बंद होने पर ग्रामीणों को आधार बनवाने एवं अपडेशन कराने के लिए चक्कर काटने पड़ रहे हैं। अधिक भीड़ के कारण कई लोगों को मुख्यालय आकर भी निराश लौटना पड़ रहा है। आलम यह है कि दो दिन पूर्व पोस्ट ऑफिस स्थित मशीन की आईडी बन्द हो गई। पंचायत समिति पर ही आधार अपडेशन हुए। जैसे तैसे पोस्ट ऑफिस वाली आईडी शुरू हुई तो दो शुक्रवार से पंचायत समिति वाली मशीन की आईडी बन्द हो गई। सच यह है कि एक ऑपरेटर प्रतिदिन २५ से ३५ आधार ही अपडेट कर पा रहा है।
बेरोजगारी भत्ते की हलचल
हकीकत है कि बेरोजगारी भत्ता ऑनलाइन आवेदन सहित अन्य योजनाओं में आवश्यक आधार से मोबाइल लिंक की आवश्यकता गहरा रही है। सरकार से बेरोजगार भत्ता लेने के लिए युवाओं की टोली में आधार की आवश्यकता गहरा रही है। इसके लिए युवा वर्ग आधार बनवाने के लिए परेशान हो रहा है। इसके अलावा छात्रवृत्ति, पेनकार्ड, उत्तर मेट्रिक छात्रव़ृति, भामाशाह योजना सहित अन्य आवेदन के लिए भी आधार की अनिवार्यता ने परेशानी बढ़ा दी है।
नहीं उठाते कॉल
ग्रामीणों का आरोप है कि समस्या को लेकर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग उदयपुर की एसीपी को दूरभाष लगाने पर भी कोई जवाब नहीं मिलता। ऐसा ही कुछ हाल क्षेत्रीय आइए का भी है। उनकी ओर से लोगों की समस्या समाधान को लेकर कोई जवाब नहीं दिया जाता।

लेती हूं जानकारी
आधार को लेकर ग्रामीणों में हो रही परेशानी की मुझे जानकारी नहीं है। इसकी जानकारी जुटाकर कार्रवाई करेंगे।
आनंदी, जिला कलक्टर, उदयपुर