प्राणघातक हमला करने वाले आरोपी को तीन साल की सजा

मंदसौर। अपर सत्र न्यायाधीश आरएल यादव ने हत्या का प्रयास करने के आरोपी को तीन वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही दो हजार रुपए का अर्थदंड भी दिया है।

लोक अभियोजक प्रफुल्ल यजुर्वेदी ने बताया कि गोपाल पिता भेरूलाल कुमावत ने जिला चिकित्सालय मंदसौर के सर्जिकल वार्ड में पुलिस को रिपोर्ट लिखाई थी कि मैंने आरोपी गणपत पिता भगवान कुमावत निवासी ग्राम सेजपुरिया को 40 हजार रुपए उधार दिए थे। कई बार गणपत से रुपए मांगे, पर टालमटोल करता रहा। बाद में आरोप लगाने लगा कि तू मेरी औरत से गलत संबंध रखता है। 1 सितंबर 15 को सुबह गोपाल गोविंदसिंह की मोटर वाइंडिंग की दुकान पर बैठा था।

तभी गणवत ने आकर गाली-गलौज की। गाली देने से मना करने पर आरोपी ने गोपाल के सिर पर दाहिनी तरफ हथौड़ी से तीन बार मारा। गोपाल को जिला चिकित्सालय के चिकित्सकों द्वारा प्रारंभिक उपचार कर उदयपुर रेफर किया गया था। वहां ऑपरेशन और लंबे समय उपचार के बाद वह ठीक हुआ। दोनों पक्षों को श्रवण कर न्यायाधीश ने आरोपी गणपत को हत्या के प्रयास में तीन वर्ष का सश्रम कारावास व दो हजार रुपए का अर्थदंड सुनाया।