रोडवेज बस स्टैण्ड के निकट श्री गेस्ट हाउस चौराहे पर मनमर्जी से चल रहा यातायात 

 

भीलवाड़ा। रोडवेज बस स्टैण्ड के निकट श्री गेस्ट हाउस चौराहे पर मनमर्जी का आलम है। यातायात दबाव के बावजूद यहां ना यातयात नियंत्रण के लिए बत्ती लगाई गई ना ही सर्किल बना है। यहीं वजह है कि वाहन चालक मनमर्जी कर रहे है। जिसकी जहां मर्जी हुई वैसे निकल गया। जहां मर्जी हुई वाहन रोक दिया। हर पल दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। इस चौराहे पर आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है। इसके बावजूद प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा है। उसके ऊपर चौराहे पर अतिक्रमणकारियों की भरमार है। इससे वाहन से गुजरना दूर पैदल तक ठीक से नहीं चल पा रहे।

कागजों से बाहर नहीं निकली बत्ती
श्री गेस्ट हाउस चौराहे पर यातायात का दबाव अधिक होने से स्थिति विकट हो रही है। लम्बे समय से ट्रॉफिक लाइट लगाने की मांग उठ रही है। प्रशासनिक अधिकारियों ने यहां यातायात संकेतक लगाने के लिए स्थान का भी चयन किया था, लेकिन कागजों से बाहर योजना निकल ही नहीं पाई।

सब्जी मण्डी से भी दबाव ज्यादा
शाम के समय चौराहे पर दबाव ज्यादा बढ़ जाता है। चौराहे के एक छोर पर सब्जी मण्डी लगने से खरीदार बीच सड़क वाहन खड़ा कर सब्जी लेने में व्ययस्त हो जाते है। इससे आने-जाने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। शाम को सब्जी मण्डी में भीड़ ज्यादा रहती है। उसके अलावा चौराहे के निकट आसपास कई निजी स्कूल होने से भी बच्चों की छुट्टी के समय दुर्घटना का अंदेशा ज्यादा रहता है।

कई कॉलोनियों का समागम
श्री गेस्ट चौराहा कई कॉलोनियों का समागम है। संजय कॉलोनी, सांगानेरी गेट, गुलनगरी,कोटा रोड, तिलकनगर, दादाबाड़ी, माणिक्यनगर, माली खेड़ा, पुराना भीलवाड़ा, वद्र्धमान कॉलोनी, विद्युत नगर समेत कई कॉलोनियों में जाने के लिए यहां से होकर गुजरते है। यहां पर यातायात पुलिसकर्मी की तैनाती तक नहीं की गई है।