हद कर दी… मौके पर निर्माण ही नहीं और दूसरे घर का फोटो अपलोड कर तीसरे ले गए प्रधानमंत्री आवास की राशि

बांसवाड़ा. आनंदपुरी इलाके में प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर फर्जीवाड़ा होने का खुलासा हुआ है। इसे लेकर शिकायत पर पुलिस ने चिकली तेजा पंचायत के सरपंच और सचिव समेत चार जनों के खिलाफ केस दर्ज किया। पुलिस के अनुसार प्रकरण में सरकारी कार्मिकों एवं जनप्रतिनिधियों ने मिलीभगत से फर्जीवाड़ा कर बगैर निर्माण के ही दूसरे के नाम की आवास योजना की राशि उठा ली। इसकी चिकली बादर निवासी मुकेश पुत्र रावजी ने रिपोर्ट दी, तो पुलिस ने चिकली तेजा निवासी सरपंच, चिकली तेजा के ग्राम सेवक, कम्प्यूटर ऑपरेटर और निरीक्षणकर्ता पंचायत प्रसार अधिकारी पंचायत समिति आनंदपुरी के खिलाफ धोखाधड़ी करने के आरोप में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है।

इस तरह किया खेल
एफआईआर के अनुसार परिवादी मुकेश का प्रधानमंत्री आवासा योजना के लाभान्वितों की वरिष्ठ सूची में क्रमांक 468 है। योजना में उसे एक लाख 48 हजार रुपए आवंटित हुए। इस राशि से नया आवास बनाना था, लेकिन अधिकारियों ने मिलीभगत कर मकान को पूर्ण बताते हुए उसकी राशि हड़प ली। आरोपियों ने पहले तो अधूरे मकान को पूर्ण बता दिया और 12 फरवरी को किसी अन्य टूटे हुए मकान का फोटो अपलोड किया। फिर 27 फरवरी को कार्य पूर्ण होने की रिपोर्ट ऑनलाइन अपलोड कर दी और जो मकान पूर्ण बताया, वह किसी और का था। इसके बाद आरोपियों ने किसी अन्य युवक के खाते का नंबर देकर आवास योजना की किश्तें डलवा दी और राशि निकालकर हड़प ली। पीडि़त को इसकी खबर तक नहीं लगी।