हत्यारे मानव धर्म पर कलंक

उदयपुर . राष्ट्रसंत कमलमुनि कमलेश ने पंचायती नोहरे में आयोजित मानव अधिकार और कर्तव्य सेमिनार में कहा कि मानवाधिकार संगठन की दुहाई देने वाले आतंकवाद के खूनी खेल में निर्दोश के कत्लेआम पर चुप क्यों रहते हैं। मौत के सौदागर मानवता को शर्मसार कर रहे हैं। ऐसे हत्यारे मानवता धर्म पर कलंक है। हिंसा को भड़का कर खुला समर्थन देने वाले देशों के खिलाफ कठोर कदम क्यों नहीं उठाए जाते। मानवाधिकार संगठन अप्रासंगिक हो गया है। अस्तित्व नजर नहीं आ रहा है।
संघस्थ साध्वियों ने किया पाद पक्षालन
आदिनाथ दिगम्बर चेरिटेबल ट्रस्ट की ओर से सेक्टर 11 स्थित आदिनाथ भवन में आचार्य वैराग्यनंदी के अवतरण दिवस कार्यक्रम के तहत कई आयोजन हुए। आचार्य के संघस्थ साध्वियों ने पाद प्रक्षालन किया। ट्रस्ट अध्यक्ष अशोक शाह ने बताया कि संघस्थ साध्वियों ने आचार्य का पाद पक्षालन किया। सुबह आदिनाथ भगवान का महामस्तकाभिषेक किया गया। महा शन्तिधारा की गई। इससे पूर्व साध्वी सुनेहमति ने विनयांजली के तहत व्याख्या की। प्रश्नोत्तरी आयोजित की गई। सकल दिगम्बर जैन समाज अध्यक्ष शान्तिलाल वेलावत, सचिव मदन देवड़ा, भंवरलाल मुण्डलिया ने विचार व्यक्त किए। महाआरती के साथ समापन हुआ।
शाश्वत ओली के आयोजन जारी
वासुपूज्य मंदिर में साध्वी अभ्युदया, साध्वी स्वर्णोदया और साध्वी सत्योदया के सान्निध्य में शाश्वत ओली की साधना, आराधना और व्याख्यान में श्रद्धालु उमड़े। साध्वी अभ्युदया ने कहा कि आचार्य का एक क्षण भी व्यर्थ नहीं जाता। आचार्य की मति, शक्ति तीक्ष्ण होनी चाहिए ताकि सभी की जिज्ञासा का समाधान कर सके। दलपत दोशी ने बताया कि ओली आयोजन 13 तक होगा।