स्वाइनफ्लू का एक और मरीज आया सामने

छोटीसादड़ी. उपखण्ड में स्वाइन फ्लू का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग भले ही स्वाइन पर नियंत्रण के दावे कर रहा हो, लेकिन लगातार सामने आ नए रोगी विभाग के दावों की पोल खोल रहे हैं। गुरुवार को बरखेड़ा गांव के 6 5 वर्षीय व्यक्ति की एमबी चिकित्सालय उदयपुर से आई रिपोर्ट में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो गई। इसके बाद चिकित्सा विभाग में हडकंप मच गया है। स्वाइन फ्लू के अब तक 5 रोगी मिल चुके है और इनमें से अब तक दो रोगियों की मौत हो चुकी है।
उदयपुर के एमबी चिकित्सालय में उपचारत बरखेड़ा गांव के बगदी राम पुत्र पन्नालाल पाटीदार मरीज में स्वाइन पुष्टि होने की रिपोर्ट आने के बाद चिकित्सा विभाग की टीम हरकत में आई और रोगी के गांव में टीम भेजकर सर्वे कराया। हालांकि विभाग का दावा है कि मरीज की हालात सामान्य है। मरीज का इलाज उदयपुर में किया जा रहा है।

स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद ब्लॉक मुख्यचिकित्सा अधिकारी कुमुद माथुर के नेतृत्व में विभाग की टीम चिकित्सक धीरेंद्र शर्मा, शांतिलाल कुमावत, मेल नर्स अरविंद ढोली, एएनएम केसर मीणा, निर्मला बैरागी, सुमन जैन, अम्बा मीणा, अंगुर बाला जैन और मोहन देवी शर्मा ने घर-घर सर्वे कर रोगी के 12 परिजनों व 10 अन्य ग्रामीणों को टेमी फ्लू की गोलियां वितरित की। वही 5 सर्दी जुकाम के मरीजों का उपचार किया गया।

आठ दिन पहले उदयपुर रैफर किया था
जानकारी के अनुसार उपखंड के बरखेड़ा गांव निवासी वृद्ध को 8 दिन पहले सीने में दर्द और सर्दी जुकाम की शिकायत और अन्य लक्षणों के आधार पर चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अरुण माथुर ने उदयपुर उपचार की सलाह दी। वह उदयपुर में इलाज के लिए पहुंचा। वहां चिकित्सकों ने उसके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा। 13 मार्च को उसको जांच में स्वाइन फ्लू होने की पुष्टि हो गई। लेकिन गुरुवार को छोटी सादड़ी चिकित्सालय के चिकित्सा अधिकारियों को उसके स्वाइन फ्लू होने की जानकारी मिली। खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी कुमुद माथुर ने बताया कि स्वाइन फ्लू से पीडि़त वृद्ध फिलहाल बरखेड़ा में उसके घर पर हैं तथा उसकी हालत में सुधार है। चिकित्सा विभाग भी उसकी सेहत पर लगातार निगरानी कर रहा है।