स्कूल में कढ़ी-चावल खाने से 100बच्चे बीमार, 46 को कराया भर्ती, एचएम व पोषाहार प्रभारी निलंबित

गंगापुर।

झबरकिया के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में मंगलवार को पोषाहार में दूषित कढ़ी-चावल खाने से 100 बच्चे बीमार हो गए। करीब 46 बच्चों को अस्ताल में भर्ती कराया गया 100 children ill nutrition food। उपचार के बाद सभी को रात में छुट्टी दे दी गई। जिला कलक्टर राजेंद्र भट्ट, जिला पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी राधेश्याम शर्मा मौके पर पहुंच गए। लापरवाही पर स्कूल के प्रधानाध्यापक राधेश्याम गर्ग व पोषाहार प्रभारी देवीशंकर चौधरी को निलंबित कर दिया गया। पोषाहार बनाने वाले दो महिलाओं को भी हटा दिया।

100 children ill nutrition food झबरकिया स्कूल में सुबह बच्चों ने पोषाहार खाया। कुछ देर बाद किसी को पेट दर्द होने लगा तो किसी को चक्कर आने लगे। सूचना पर अभिभावक भी पहुंच गए। चिकित्सा विभाग की सूचना पर एम्बुलेंस से बच्चों को गंगापुर चिकित्सालय लाकर भर्ती कराया गया। एक साथ इतने बच्चों की तबीयत खराब होने पर गांव में अफरा-तफरी मच गई। गंगापुर चिकित्सालय में ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठी हो गई। उपखंड अधिकारी छोटूलाल शर्मा, ब्लॉक मुख्य शिक्षा अधिकारी माधवसिंह बड़वा, विधायक कैलाश त्रिवेदी भी वहां पहुंचे। कोशीथल, पोटलां, महेन्द्रगढ़ व भीलवाड़ा से चिकित्सक टीमें गंगापुर पहुंची।
---------

इनकी बिगड़ी हालत

झबरकिया निवासी सूरज ढोली, सोनू बैरवा, पूजा भील, मधु, सूरज, सदूल, राजू जाट, पुष्कर प्रजापत, रोहित सुवालका, रेशमा भील, पूजा सालवी, मंशा सालवी, संगीता सालवी, दिनेश बलाई, अर्जुन जाट, करण जाट, गोरू सालवी, पूरण सालवी, पिंटू गाडरी, कालू भील, नारायण बैरवा, कृष्णा जाट, कोमल सुवालका, ज्योति तेली, मारू भील, सोनू बैरवा, निर्मला गाडरी, विष्णु ढोली, कन्हैयालाल रेगर, काना भील, कोमल प्रजापत, जिनल प्रजापत, सुमन सुवालका, मंशा जाट, शिवलाल सालवी, पिन्टू गाडरी, राजू बैरवा, देवराज, कालु बैरवा, सुनील गाडरी, केशव सालवी, सोनिया गाडरी, मुकेश जाट, मंशा सालवी, देवेन्द्र सालवी को चिकित्सालय में भर्ती कराया गया।

ग्रामीणों ने घेरा स्कूल

100 children ill nutrition food घटना से गुस्साए ग्रामीण स्कूल को घेरकर बैठ गए। लम्बी जद्दोजहद के बाद पोषाहार बनाने वाली इंद्रा गाडरी व रतनी प्रजापत को हटा दिया गया। प्रधानध्यापक व पोषाहार प्रभारी को निलंबित कर दिया गया। इन सभी ने ग्रामीणों से हाथ जोड़कर माफी मांगी। वहां पहुंचे जिला कलक्टर व एसपी पहुंचे और ग्रामीणों को समझाया। आखिर सात घंटे बाद ग्रामीण वहां से हटे।

बड़ी लापरवाही: बदल दिया मीनू
जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक) के तहसीन अली के अनुसार मंगलवार को दाल-चावल बनानी थी। पोषाहार प्रभारी ने मीनू बदलते हुए कढ़ी-चावल बनवा दिए। यह खाने से बच्चे बीमार हुए। संभवतया कढ़ी बनाने में इस्तेमाल छाछ खराब थी। दूध भी खराब हो सकता है। चिकित्सा विभाग की टीम ने जांच के लिए बच्चों को खिलाए गए पोषाहार के नमूने लिए हैं।

 

फिलहाल सोनियाना में बनेगा पोषाहार
डीईओ ने बताया कि स्कूल में पोषाहार का रिकॉर्ड व किचनशैड सीज कर दिया है। फिलहाल पीईईओ सुवाणा को निर्देशित किया है कि अगले आदेशों तक झबरकिया स्कूल के बच्चों के लिए दूध व पोषाहार की व्यवस्था करे। इसके लिए अतिरिक्त कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

-