सुधासागर ने कहा समाज का काम बच्चों को श्रेष्ठ शिक्षा देना

भीलवाड़ा।


पुर रोड पर परिवहन कार्यालय के पास संत श्री सुधासागर शिक्षण संस्थान का शनिवार सुबह मुनि सुधासागर के सान्निध्य में लोकार्पण हुआ। उद्घाटन मार्बल उद्यमी अशोक कुमार व सुरेश कुमार पाटनी ने किया। संस्थान के भूतल मंजिल का लोकार्पण अंजना पाटोदी, प्रथम मंजिल का सुशील कुमार, प्रदीप गदिया तथा द्वितीय मंजिल का नरेन्द्र कुमार सेठी ने किया। मुख्य अतिथि जिला एवं सेशन न्यायाधीश प्रकाश चन्द पगारिया व एडीएम (शहर) नरेन्द्र कुमार जैन थे।

मुनि सुधासागर ने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्था की सफलता का मापदण्ड इस पर निर्भर है कि संस्था के ट्रस्टियों एवं समाज के धनाढ्य वर्ग के बच्चे इसमें पढ़े। ऐसे में शिक्षा का स्तर स्वत: ही सुधर जाएगा। देश का दुर्भाग्य है कि श्रेष्ठ इंजीनियर, डॉक्टर एवं अन्य उच्च शिक्षित नौकरियों के लिए विदेश जा रहे हैं। समाज का दायित्व है कि बच्चों को श्रेष्ठ शिक्षा के संस्थान दें। प्रतिष्ठाचार्य प्रदीप भैया ने शुद्धीकरण के लिए अभिषेक व शांतिधारा की।

कीर्तिस्तम्भ का लोकार्पण आज
परिवहन कार्यालय चौराहे पर कीर्ति स्तम्भ व आचार्य विद्यासागर सर्किल का लोकार्पण रविवार सुबह मुनि सुधासागर के प्रवचन के बाद होगा। करीब 47.5 फीट ऊंचे कीर्ति स्तम्भ का निर्माण भीलवाड़ा दिगम्बर समाज ने कराया है। शास्त्रीनगर दिगम्बर मंदिर के अध्यक्ष प्रवीण चौधरी ने बताया कि मुनि प्रमाण सागर की प्रेरणा से कार्य 5 नवम्बर को पूरा हो गया था। नगर विकास न्यास ने सर्किल का नाम आचार्य विद्यासागर किया है। आचार्य विद्यासागर के 50वें स्वर्णिम संयम महोत्सव पर देश में करीब 108 सर्किल व कीर्ति स्तम्भ का निर्माण हुआ है।