सात वर्षीय मासूम ने रोजा रख अमन की दुआ मांगी

मेवाड़ किरण @ नीमच -

नोशाद अली @ माहे रमजान में तेज गर्मी के बीच जहां बड़े लोग शिद्दत ओर अकिद्द्त से रोज़े रख कर रब की इबादत में लगे हुए है। वही इसी तेज गर्मी में मासूम बच्चे भी रोजा रखने से पीछे नहीं हट रहे है। नगर के नूरी कॉलोनी में रहने वाले 7 वर्षीय बालक अल्तमस हुसैन पिता नबीनूर हुसैन, नूरी कॉलोनी मनासा ने तेज गर्मी के बीच अपना पहला रोजा रखा। परिवार के सदस्यों के साथ आसपास के लोगों ने भी अल्तमस हुसैन का हौसला बढ़ाए रखा है। 7 वर्षीय बालिक ने मुस्लिम समाज के पवित्र माह का पहला रोजा रखकर रोजा पूर्ण करने में कामयाबी हासिल की है। शाम को मगरिब की अजान होते ही खिले चेहरे के साथ अपने घर के बड़े रोजेदारों संग एक साथ ये बच्चे भी रोजा खोलते हैं। पहली बार रोजा रख अल्तमस हुसैन ने बताया कि पहले घर में बड़ों को रोजा रखते देखकर उन्हें भी रोजा रखने की इच्छा होती है। इसलिए सुबह सेहरी कर रोजा रखा लिया और फिर परिवार के सभी सदस्यों ने इस नेक काम में उस का हौसला बढ़ाया और उसका पहला रोजा कामयाब हुआ। पहली बार रोजा रखने वाले अल्तमस हुसैन ने देश में अमन चैन की दुआ मांगी है। बच्चे के पिता नबीनूर हुसैन ने बताया कि अल्तमस हुसैन भावुक बच्चा है। हमेशा अमन की सोच रखता है।

Source : Apna Neemuch

सात वर्षीय मासूम ने रोजा रख अमन की दुआ मांगी

मेवाड़ किरण @ नीमच -

नोशाद अली @ माहे रमजान में तेज गर्मी के बीच जहां बड़े लोग शिद्दत ओर अकिद्द्त से रोज़े रख कर रब की इबादत में लगे हुए है। वही इसी तेज गर्मी में मासूम बच्चे भी रोजा रखने से पीछे नहीं हट रहे है। नगर के नूरी कॉलोनी में रहने वाले 7 वर्षीय बालक अल्तमस हुसैन पिता नबीनूर हुसैन, नूरी कॉलोनी मनासा ने तेज गर्मी के बीच अपना पहला रोजा रखा। परिवार के सदस्यों के साथ आसपास के लोगों ने भी अल्तमस हुसैन का हौसला बढ़ाए रखा है। 7 वर्षीय बालिक ने मुस्लिम समाज के पवित्र माह का पहला रोजा रखकर रोजा पूर्ण करने में कामयाबी हासिल की है। शाम को मगरिब की अजान होते ही खिले चेहरे के साथ अपने घर के बड़े रोजेदारों संग एक साथ ये बच्चे भी रोजा खोलते हैं। पहली बार रोजा रख अल्तमस हुसैन ने बताया कि पहले घर में बड़ों को रोजा रखते देखकर उन्हें भी रोजा रखने की इच्छा होती है। इसलिए सुबह सेहरी कर रोजा रखा लिया और फिर परिवार के सभी सदस्यों ने इस नेक काम में उस का हौसला बढ़ाया और उसका पहला रोजा कामयाब हुआ। पहली बार रोजा रखने वाले अल्तमस हुसैन ने देश में अमन चैन की दुआ मांगी है। बच्चे के पिता नबीनूर हुसैन ने बताया कि अल्तमस हुसैन भावुक बच्चा है। हमेशा अमन की सोच रखता है।

Source : Apna Neemuch