सवा साल पहले मारी थी टक्कर, अब देना पड़ें 63 लाख रुपए

मेवाड़ किरण@नीमच -

नीमच/मनासा. करीब सवा साल पहले एक सड़क दुर्घटना में बाईक सवार की टे्रक्टर की टक्कर से मौत हो गई थी। इस संबंध में चल रहे प्रकरण में कोर्ट द्वारा फैसला मृतक के परिजनों के पक्ष में देते हुए बीमा कंपनी को ६३ लाख रुपए की क्षतिपूर्ति करने के आदेश दिए हैं।
मनासा तहसील में पहली बार किसी सड़क दुर्घटना में मृत व्यक्ति के परिजनों को न्यायालय द्वारा 63 लाख के करीब क्षतिपूर्ति राशि देने के आदेश कंपनी को दिए। मनासा अपर सत्र न्यायाधीश अखिलेश कुमार धाकड ने यह फैसला मृतक के परिजनों के पक्ष में दिया। फरियादी श्यामाबाई की तरफ से पैरवी करते हुए अधिवक्ता चन्द्रशेखर श्रीवास्तव ने बताया कि घटना करीब एक वर्ष पुरानी होकर 21 जुन 2018 की है। फरियादी का पति गोवर्धनलाल पिता बापुलाल सोलंकी मोटर साईकल से गांव तुमड़ा से स्कूल की छुट्टी होने के बाद अपने गांव बेलारा जा रहा था। गोवर्धनलाल ट्राफिक नियमों का पालन करते हुए जा रहा था। इसी दोरान गांव लोडकिया बस स्टैंड पर ट्रेक्टर क्रमांक एमपी 44 एए 9524 के चालक ने लापरवाही पूर्वक ट्रेक्टर चलाते हुए टक्कर मार दी। गंभीर घायल होने पर गोवर्धनलाल को मनासा चिकित्सालय भर्ती करवाया गया था। जहां से नीमच रेफर कर दिया गया था। इलाज के दौरान गोवर्धनलाल की मौत हो गई थी। घटना के समय मृतक की आयु 40 वर्ष थी साथ ही सहायक अध्यापक एवं कृषि कार्य करते हुए 50 हजार मासिक आय थी। न्यायालय ने अध्यापक की पदोन्नति, सेवानिवृत्ति, फरियादी को पति से मिलने वाले प्रेम सहित मानसिक कष्ट एवं अंतिम कार्यक्रम में हुए खर्च को लेकर इफको टोकियो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को कुल 62 लाख 73 हजार 568 रूपए मृतक की पत्नी श्यामाबाई सोलंकी (37) वर्ष निवासी बेलारा, तहसील मल्हारगढ़ जिला मंदसौर को देने के निर्देश दिए।