विदाई से पहले जमकर थिरके गणपति के भक्त

चित्तौडग़ढ़. गणेश चतुर्र्थी पर गणपति स्थापना के साथ शुरू दस दिवसीय गणपति महोत्सव की धूम गुरूवार को अनंत चतुर्दशी पर प्रतिमा विसर्जन के साथ थम जाएगी। इसे पूर्व बुधवार रात को देर रात गणपति के पांडालों में भक्तजन गरबा खेलते रहे। गणपति के भक्त बुधवार को धूमधाम से गणपति बप्पा को अगले वर्ष जल्दी आने की कामना के साथ विदाई देने की तैयारी में लगे रहे। विसर्जन से पूर्र्व संध्या पर बुधवार देर रात तक गणपति महोत्सव आराधना के लिए शहर में विभिन्न स्थानों पर गरबा-डांडिया सहित कई सांस्कृतिक कार्यक्रम होते रहे। इनके माध्यम से भक्तों ने गणपति की आराधना की। कार्यक्रम थमते ही भक्त गणपति विसर्जन की तैयारियों में लग गए। शहर में पावटा चौक, कुंभानगर, सदर बाजार, प्रतापनगर, सेंती, शास्त्रीनगर, मधुवन, गांधीनगर सहित विभिन्न क्षेत्रों में गणपति महोत्सव की धूम मची हुई है। जिंक कॉलोनी में महाराष्ट्र मंडल की ओर से श्रीगणेश उत्सव के तहत विभिन्न आयोजन किए जा रहे है।सुभाष चौक में प्रकाश दल की ओर से गणपति प्रतिमा विसर्जन की तैयारियां पूरी कर ली गई है। शहर के लौहार मोहल्ला में बावड़ी वाले गणेश के यहां गणपति महोत्सव के तहत विभिन्न आयोजन हुए। यहां रात में गरबा रास का आयोजन किया गया। महिलाओं ने पारम्परिक परिधानों में डांडिया रास किया।
नदी किनारे सुबह से तैनात रहेंगे गौताखोर
चित्तौडग़ढ़ में अनंत चतुर्दशी पर प्रतिमा विसर्जन शोभायात्रा में लोगों की भीड़ उमडऩे की संभावना के चलते प्रशासन द्वारा तैयारियां तेज कर दी गई है। विसर्जन स्थल गंभीरी नदी के तट व पुलिया पर रोशनी व सुरक्षा के खास प्रबन्ध किए गए। नदी में पानी के तेज बहाव के चलते गौताखोरों की व्यवस्था भी की जा रही है। सुबह ९ बजे से नदी तट पर एनडीआरएफ की टीम तैनात कर दी जाएगी। लोगों को प्रतिमा लेकर गहरे पानी में नहीं जाने दिया जाएगा।