वहम नहीं पालें, समय पर संभल जाएं

आज पूरा विश्व कोरोना की इस महामारी से भयभीत और त्रस्त है। सरकार, जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग एवं स्थानीय निकाय कोरोना रोकथाम के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं, लेकिन आम जनता की अपनी महत्वपूर्ण भूमिका है। आज भी मैं देख रहा हूं कि सड़कों पर लोग अनावश्यक घूमते हुए नजर आ रहे हैं। इससे वे खुद तो संक्रमित हो रहे हैं, साथ ही परिवार, देश और समाज को भी संकट में डाल रहे हैं। ऐसे लोगों की लापरवाही से बड़े बुजुर्ग शिकार हो रहे हैं।
हमारे बीच कई व्यक्तियों को यह वहम है कि भारत एक गर्म देश है, यहां कोरोना नहीं फैल सकता या मैं नौजवान हूं मुझे कुछ नहीं होगा। ये बिल्कुल गलत है। इटली जैसे विकसित देश जहां भारत के मुकाबले न्यूनतम जनसंख्या है और वे लोग इतने सोशल भी नहीं होते, फिर भी वहां इतना तेजी से फैला है। आज भारत के लोग नहीं संभले तो हमारे हालात भी बिगड़ सकते हैं। हमें सिर्फ घर में ही रहना है, ये ही हमारा उपचार है। वरना इटली जैसे हालात होने में देर नहीं लगेगी।
यह हमारा सौभाग्य है कि हमारे देश में महामारी ने कदम देरी से रखा। हमें चीन, इटली आदि देशों से सीख लेने का अवसर मिला। यह देशभक्ति दिखाने का अच्छा अवसर है। हमें देश की रक्षा के लिए हथियार लेकर बॉर्डर पर नहीं जाना, केवल घर में रहना है, ये ही हमारी देशभक्ति होगी। ये ईश्वर की अनुकम्पा मानें कि आज हमें परिवार के साथ रहने का अवसर मिला है तो उसका सदुपयोग करें। अपने बच्चों को संस्कारित करें। उन्हें योग व प्राणायाम के बारे में बताएं। साथ ही सोशल मीडिया पर भ्रमित मैसेज ना फैलाएं। अगर आपके आसपास या घर में कोई व्यक्ति बाहर से आए तो उसे घर में ही आइसोलेट करके रखें। अगर किसी को बुखार, खांसी, सांस में तकलीफ के लक्षण लगे तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें। अनावश्यक कार्यों के लिए घर से बाहर न निकले। घर पर रहकर अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का प्रयास करें। इसके लिए भोजन में अधिक से अधिक तरल पदार्थों का उपयोग करें। खट्टे विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करें। अगर कोरोना वायरस से जंग जीतनी है तो जनता को सरकार एवं प्रशासन का सहयोग पूरी जिम्मेदारी से करना होगा।