राष्ट्र के लिए समर्पण करने वाला पूजा गया-कोठारी

उदयपुर . भामाशाह की 473 वीं जयन्ती पर शहर में शुक्रवार को विभिन्न संगठनों और संस्थाओं की ओर से विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस मौके पर उल्लेखनीय सेवाओं के लिए भामाशाहों का सम्मान भी किया गया।
महावीर युवा मंच की ओर से हाथीपोल पर आयोजित समारोह में भामाशाह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। समारोह में मुख्य अतिथि महापौर चन्द्रसिंह कोठारी ने कहा कि मेवाड़ में ही नहीं अपितु पूरे देश में वहीं व्यक्ति पूजा गया है जिसने देश एवं राष्ट्र के नाम अपना समर्पण दिया हो। महाराणा प्रताप के कुशल नेतृत्व में भामाशाह, भीलू राणा, झाला मान, हकीम खां सूरी आदि हरावल दस्ते के सेनानायकों को सर्वसमाज प्रेरणा-पूंज मानता है। महावीर युवा मंच के मुख्य सरंक्षक प्रमोद सामर ने कहा कि मंच जैन समाज के भामाशाहों के साथ सर्वसमाज के भामाशाहों का भामशाह अलंकरण अर्पण समारोह आयोजित करेगा। समारोह की अध्यक्षता जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल ने की। ठाकुर अमरचंद बड़वा स्मृति संस्थान की ओर से भी हाथीपोल पर भामाशाह की जयन्ती पर उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजली अर्पित की गई। इस दौरान संस्थान के अध्यक्ष प्रो.के.एस.गुप्ता ने कहा कि मेवाड़ के तत्कालीन प्रधानमंत्री भामाशाह की अहम् भूमिका रही है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि दिनेश भट्ट एवं विशिष्ट अतिथि पंकज शर्मा एवं प्रो.रमेश चन्द्र तिवारी थे।भारत विकास परिषद आेर से महावीर विद्या मंदिर सी. सेकेण्डऱी स्कूल सेक्टर-5 में भामाशाह जयंती मनाई गई।
इस अवसर पर भामाशाह की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता भामाशाह अध्यक्ष डॉ एमजी वाष्र्णेय थे जबकि मुख्य अतिथि एमडीएस स्कूल की फाउंडर पुष्पा सोमानी थी

भामाशाहों का हुआ सम्मान
राजकीय विद्यालयों में 1लाख से 15 लाख तक का योगदान देने वाले चयनित भामाशाहों को जिला स्तर पर सम्मानित किया गया। रेजिडेंसी बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में जिला स्तरीय समारोह में टिकमसिंह राव, नटवरसिंह शक्तावत, राजेश चित्तोड़ा और आशीष कोठारी को भामाशाह के तौर पर शिक्षा श्री सम्मान से नवाज गया वहंी शाला प्रेरक का पुरस्कार बिंदा प्रसाद लोध, पंकज वया,प्रकाश चंद्र चौबिसा और जिनेन्द्र कुमार जैन को प्रदान किया गया। अतिक्ति जिला शिक्षा अधिकारी चंद्रशेखर जोशी ने बताया कि समारेाह में १ लाख से १५ लाख तक का सहयोग करने वालों को भामाशाह के तौर पर सम्मानित किया गया। सम्मान समारेाह के दौरान संयुक्त निदेशक भरत मेहता, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी शिवजी गौड, प्रारंभिक एवं माध्यमिक जिला शिक्षा अधिकारी, शिक्षक और विभाग के कर्मचारी उपस्थित रहे।