राज्यपाल कल्याण सिंह के आदेश, सुखाडिया विश्वविद्यालय में लिपिक भर्ती प्रक्रिया निरस्त

जयपुर।

मोहनलाल सुखाडिय़ा विवि की कनिष्ठ लिपिक भर्ती ( LDC ) में गड़बड़ी को लेकर लम्बे अर्से से चल रहे विवाद पर राज्यपाल एवं कुलाधिपति कल्याण सिंह ( Kalyan Singh ) ने बड़े आदेश दिए हैं। राज्यपाल एवं कुलाधिपति कल्याण सिंह ने उदयपुर के मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय ( mohanlal sukhadia university udaipur ) मे लिपिक ग्रेड-द्वितीय ( LDC 2nd Grade ) की भर्ती प्रक्रिया को निरस्त कर दिया है। राज्यपाल सिंह ने राज्य सरकार की अनुशंषा पर इस भर्ती प्रक्रिया को निरस्त किया है।

 

2012 में हुई नियुक्तियों की जांच करेंगे उदयपुर के संभागीय आयुक्त

राज्यपाल कल्याण सिंह ने मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय, उदयपुर में वर्ष 2012 में हुई विभिन्न नियुक्तियों की जांच के लिए संभागीय आयुक्त, उदयपुर को निर्देश दिये है। संभागीय आयुक्त की अध्यक्षता में गठित जांच कमेटी इस प्रकरण की दुबारा से जांच करेगी और एक माह की अवधि में कुलाधिपति को रिपोर्ट पेश करेगी।

 

ये था मामला

उल्लेखनीय है कि भाजपा सरकार के दौरान हुई इस भर्ती में पेपर लीक होने का मामला बताया जा रहा है। सुखाडिय़ा विवि में एलडीसी भर्ती को लेकर आरोप है कि जिस नवीन मिश्रा को परीक्षा में 75 में से 75 अंक मिले थे, वह कुलपति के ही पैतृक गांव धनकोली से है।