#राजस्थान_का_रण : बांसवाड़ा के पांचों विधानसभा क्षेत्रों पर भाजपा की नजर, फीडबैक लेकर जानी दावेदारों की धरातलीय हकीकत

बांसवाड़ा. विधानसभा चुनाव में बांसवाड़ा जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा प्रत्याशी के चयन को लेकर मंगलवार को पाली जिले के रणकपुर में रायशुमारी की गई। इसमें प्रत्याशियों के नाम पर पार्टी पदाधिकारियों व प्रमुख कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया गया। साथ ही विधानसभावार धरातलीय स्थिति की थाह पाने की कोशिश की गई। अलग-अलग विधानसभा के अनुसार रायशुमारी की गई। इससे पहले जिलाध्यक्ष मनोहर त्रिवेदी के नेतृत्व में रणकपुर पहुंचे पार्टी पदाधिकारियों और प्रमुख कार्यकर्ताओं व दावेदारों की संयुक्त बैठक हुई,जिसमेंं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी, पूर्व अध्यक्ष अशोक परनामी, महामंत्री सतीश पूनिया आदि ने कहा कि चुनाव में एकमात्र लक्ष्य 180 सीट पर जीत प्राप्त करना है। जनता भाजपा को अनुशासित पार्टी के रूप में देखती है। इस दृष्टि से सभी को एकजुट होकर समर्पित भाव से संगठन के लिए कार्य करना होगा। टिकट के लिए सभी से राय ली जाएगी। उनके विचारों को जानेंगे, इसके बाद ही अंतिम निर्णय किया जाएगा।

बड़े नेताओं ने की चर्चा
बैठक के बाद वहां बनाए गए विधानसभावार बॉक्स में पार्टी की कोर कमेटी में शामिल दो बड़े नेताओं ने प्रत्याशी चयन के बारे में जिले के प्रतिनिधियों से चर्चा की। बांसवाड़ा विधानसभा के लिए प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी, गढ़ी विधानसभा के लिए ओमप्रकाश माथुर व सतीश पूनिया, घाटोल के लिए अरुण चतुर्वेदी व मुरलीधर राव, बागीदौरा के लिए वसुंधरा राजे व आरसी चौधरी तथा कुशलगढ़ के लिए चंद्रशेखर व युनूस खान ने पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की राय जानी। बताया गया कि आला नेताओं ने संभावित प्रत्याशी के बारे में चर्चा की तो किसी विधानसभा क्षेत्र के लिए सुझाव ही लिए गए। जिन कार्यकर्ताओं के पास संगठन का दायित्व है और टिकट के दावेदार भी थे, उनसे पृथक से चर्चा नहीं की गई। इस दौरान पूर्व राज्यमंत्री भवानी जोशी, ओम पालीवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष भगवतपुरी, मनोहर पटेल, पंकज मालोत, प्रवक्ता राजीव ओझा, जिला कार्यकारिणी, मंडल अध्यक्ष व महामंत्री, मोर्चों के अध्यक्ष व प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य आदि मौजूद रहे।

इनके नाम आए सामने
फीडबैक देने वाले प्रतिनिधियों से की चर्चा अनुसार बांसवाड़ा विधानसभा से राज्यमंत्री धनसिंह रावत, हकरू मईड़ा, मुकेश रावत और मोतीलाल भगोरा के नाम दावेदार के रूप में सामने आए। गढ़ी से विधायक जीतमल खांट, धर्मेेंद्र राठौड़, लक्ष्मण डिंडोर, कैलाश मीणा, कुशलगढ़ से भीमाभाई, बागीदौरा से खेमराज गरासिया, कमलेश तंबोलिया, कृष्णा कटारा, घाटोल से नवनीतलाल निनामा, हरेंद्र निनामा, सांसद मानशंकर, प्रकृति खराड़ी, कांतिलाल अहारी आदि के बारे में रायशुमारी की गई।

कोई निष्कासित नहीं
बांसवाड़ा विधानसभा की रायशुमारी के दौरान पार्टी के एक पदाधिकारी ने यह कहकर आपत्ति जताई कि बांसवाड़ा नगर से वे लोग कैसे सम्मिलित हो रहे हैं, जो पहले निष्कासित किए जा चुके हैं। इस आपत्ति पर राठौड़ व सैनी के समक्ष एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने यह कहकर प्रतिवाद किया कि निष्कासन का पत्र कहां है। इस पर प्रदेशाध्यक्ष सैनी ने कहा कि बांसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में कोई निष्कासित नहीं है। सभी पार्टी के कार्यकर्ता हैं।