राजस्थान में कर्जमाफी की आड़ में चहेतों को लाभ पहुंचाने का खेल, बांसवाड़ा में सरकारी कर्मचारियों का भी माफ कर दिया कर्जा

बांसवाड़ा. जौलाना/डडूका. कर्ज माफी में अपात्र लोगों को लाभान्वित करने के मामले थमते नजर नहीं आ रहे हैं। अब सोमवार को रैयाना लेम्प्स में 19 सरकारी कर्मचारियों और सेवानिवृत्त कार्मिकों की कर्ज माफ ी का मामला सामने आया है। इन लोगों के नाम छिपाने के लिए सूची चस्पा करने में भी खेल हुआ और कर्जमाफी वाले किसानों की आधी सूची ही चस्पा की गई। किसानों ने जब ऑनलाइन सूची देखी तो भांडा फूट गया। अब वंचित लोगों ने लेम्प्स व्यवस्था व प्रबंधन समिति पर व्यक्तिगत व चेहतों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगा कर जांच की मांग की है।

यूं सामने आया मामला
स्थानीय लोगों ने बताया कि रैयाना लेम्पस में कुल सात सौ किसानों का कर्ज माफ ी की सूची ऑनलाइन पर है, लेकिन 19 सरकारी कर्मचारियों के नाम छिपाने के लिए 345 किसानों की ही सूची चस्पा की गई है। किसानों ने अपने मोबाइल से ऑनलाइन कर्जमाफी की सूची देखी तो पाया कि उसमें सात सौ किसानों के नाम हैं जबकि लेम्प्स की ओर से 345 लोगों की ही सूची चस्पा कर रखी है। शेष रहे लोगों की सूची चस्पा नहीं की है। बताया गया कि जिन लोगों की सूची चस्पा नहीं की गई उनमें 19 सरकारी कार्मिकों के नाम हैं। इनके नाम सार्वजनिक नहीं हों, इसी मंशा से शेष बचे 355 लोगों की सूची लेम्प्स परिसर में नहीं लगाई गई। मामले में लेम्प्स मैनेजर भंवरसिंह ने बताया कि जिन सरकारी कर्मचारियों के नाम ऋ ण माफ ी सूची में है, उनके नाम को निरस्त करवाने को लेकर लेम्प्स की ओर से कार्रवाई की जा रही है।

आरोप निराधार
लेम्प्स प्रबंधन का कहना है कि ऋ ण माफ ी योजना की शुरूआत में पहले जो आदेश हुआ था, जिसमें राजकीय व सेवा निवृत कर्मचारियों को वंचित रखने का कोई आदेश नहीं था। जिस कारण इन लोगों का नाम ऋ ण माफी में ऑनलाइन हो गए हैं। ऐसे नामों को विभाग के आदेश के तहत पुन: हटा दिया जाएगा।

यह है लाभान्वित
सूत्रों के अनुसार रैयाना लेम्प्स में राजकीय कर्मचारी व सेवा निवृत कर्मचारियों का ऋ ण माफ ी में लाभ पहुंचाया गया, उसमें रामप्रकाश, अशोक शर्मा, वेलजी, रमणलाल, महेन्द्रसिंह, मुकेश, दूर्गापालसिंह, अंगदसिंह, दूर्गपालसिंह, गेफ रलाल, गोविन्द, नरेन्द्र कुमार, देवीलाल, रणवीरसिंह, धु्रवशंकर, ईश्वरलाल, रमेशचन्द्र, किशनलाल, शंकरलाल सहित अन्य को करिब 9 लाख रुपए का ऋण माफ हुआ है। गौरतलब है कि ऋ ण माफ ी योजना 2018 में सांसद, विधायक, राजकीय सेवा से जुड़े कर्मचारी, सेवानिवृत कर्मचारी, आयकर के दायरे में आने वाले को योजना का लाभ नहीं देने का आदेश था।

इधर, 16 किसानों ने दर्ज कराई शिकायत
परतापुर. मादलदा लेम्प्स में ऋण माफी योजना में गड़बड़ी की शिकायतों का सिलसिला जारी है। मादलदा के 16 किसानों ने सोमवार को उपखण्ड अधिकारी प्रभुदयाल शर्मा को प्रार्थना पत्र व शपथ पत्र देकर बताया कि ऋण नहीं लेने के बाद भी लेम्प्स व्यवस्थापक की ओर से उनके नाम से ऋण माफी दर्शाई गई है। किसानों ने विस्तृत जांच एवं कार्रवाई की मांग की है। मादलदा निवासी अनिता पत्नी रवि, कचरा पुत्र अमरजी, गटूलाल पुत्र कुरिया, कमू पुत्र कालिया, वखतपुरा निवासी शंकर पुत्र कचरू, गौतम पुत्र होलकार, कालु पुत्र होलकार, खातु पुत्र जोखा, देवा पुत्र ताजेंग, कलजी पुत्र जोखा, रूपा पुत्र होलकर, नानिया पुत्र ऐवाजी, जीवा पुत्र होलकर, नानु पुत्र जोखा, श्यामजी पुत्र होलकर व नानू पुत्र कालु ने जांच की मांग को लेकर प्रार्थना पत्र दिए।