राजस्थान के इस शहर में महिला को जबरन जीप में बैठाकर ले गए और फिर किया कुछ ऐसा !

मोहम्मद इलियास/उदयपुर. एक महिला से प्रतापनगर थाने के कांस्टेबलों के खिलाफ इस्तागासे मारपीट का आरोप लगाते हुए थाने में मामला दर्ज करवाया। डबोक निवासी प्रेम कुंवर पत्नी बलवंत सिंह शक्तावत ने प्रतापनगर थाने में तैनात सुनील विश्नोई, महिला कांस्टेबल राजेश्वरी व पुष्पा पर मारपीट का आरोप लगाया। महिला का कहना है गत 5 मार्च को वह आबकारी विभाग के लॉटरी में शािमल होने के लिए सुविवि के विवेकानंद सभागार में गई थी। लॉटरी नहीं खुलने वह अपनी गाड़ी में बैठकर पार्टनर का इंतजार कर रही थी।
प्रेमकुंवर का आरोप है कि तभी प्रतापनगर थाने के सुनील विश्नोई, महिला कांस्टेबल राजेश्वरी और पुष्पा आए। जहां जबरन उसे उसकी गाड़ी से बाहर निकालते हुए बाल खींचकर पुलिस की जीप में बिठाया दिया। बाद में तीनों मारपीट करते हुए उसे थाने ले गए, जहां पर सुनिल विश्नोई और दोनो ही महिला पुलिसकर्मियों ने लातों घूसों से मारपीट कर दी। मारपीट में मेरे नाक में खून बहने लगा तथा आंख पर गंभीर चोट पहुंची। दांये हाथ के अंगूठे के पंजे, पीठ पर भी गंभीर चोट आई तथा कपड़े भी फट गए। गले में पहना हुआ मंगलसूत्र बिखर गया। कुछ देर बाद वह बेसुध होकर वहीं गिर पड़ी।

 

READ MORE : इस वजह से हुई प्रवासी पक्षी कॉमन क्रेन की मौत, कारण जानेंगे तो चौंक जाएंगे आप...

 

पीडि़ता ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने जबरन उसकी गाड़ी को अपने कब्जे में लिया तथा उसमें रखे 96 हजार रुपए भी गायब कर लिए। पीडि़ता का कहना है कि उसे जो बाद में छुड़ाने के लिए थाने में आाय था वह नशे में था पुलिस ने उसका केस बनाया और उसकी जमानत पीडि़ता से करवाई। पीडि़ता का कहना है कि उसने इसकी शिकायत एसपी से की। कार्रवाई नहीं होने पर न्यायालय में इस्तगासा पेश किया।

न्यायालय से इस्तगासा पेश होने पर मामला दर्ज किया है। इस मामले की जांच भूपालपुरा थानाधिकारी राजेश यादव को सौंपी गई है। - विवेक सिंह, थानाधिकारी प्रतापनगर