रथ में सवार होकर नगर भ्रमण पर निकल भगवान जगन्नाथ- इन्द्रदेव भी प्रसन्न रहे

मेवाड़ किरण @ नीमच -

श्री जगन्नाथ रथयात्रा समिति नीमच के तत्वाधान में आज सांय 6 बजे तिलक मार्ग स्थित श्रीराम मंदिर में आरती के बाद प्रांरभ हुई जो नगर के घंटाघर, तिलक पंथ, श्रीराम चौक, बजरंग चौक, फव्वारा चौक, टैगोर मार्ग, कमल चौक, फोर जीरो, पुस्तक बाजार, राम मंदिर होते हुए अग्रसेन वाटिका पर पहूंचकर सामुहिक आरती पूजा में परिवर्तित हुई। रथयात्रा की पूजा अर्चना व आरती पंण्डित द्वारा कराई गई। शिव दरबार, तीन घोड़े व बड़ी संख्या में श्रद्धालु रथयात्रा के साथ चल रहे थे जिसमें एक बग्गी में एक बग्गी में श्री श्री 108 योगी उत्तमनाथ महाराज, महंत राजा भर्तरी गुफा उज्जैन, निपानिया धाम महांमडलेश्वर सुरेशानंद सरस्वती, विराजमान थे श्रद्धालु भक्तों सहित कई गणमान्य साधु संत सहित अतिविशिष्ट हस्तियां उपस्थित थी। शोभायात्रा का नयाबाजार में विधायक दिलीपसिंह परिहार, व्यापारी संघ अध्यक्ष राकेश भारद्वाज, भाजपा नेत्री हेमलता धाकड़ सहित आदि जनप्रतिनिधियों ने भगवान जगन्नाथ के रथ पर पुष्प अर्पित कर आर्शीवाद ग्रहण किया। शोभायात्रा में श्री दुदेश्वर व्यायाम शाला बघाना अखाड़े के पहलवानों द्वारा हैरंतअगेज करबत प्रस्तुत किये गये। साथ ही शिव बारात शिव दरबार में शिव का अभिनय लक्की प्रजापत, कालिका सुरज विश्वकर्मा, भूतप्रेत शैतान का अभिनय विभिन्न कलाकारों ने प्रस्तुत किया, ट्रेक्टर रूपी रथ पर बालाजी आर्ट के मुकेश माली द्वारा तैयार की गई गाय एवं राधा-कृष्ण, भगवान जगन्नाथ का चवर ढुलाकर पूजा अर्चना करती महिला भक्त शिव बारात व श्रीनाथ का स्वागत करती पुष्पाजंली आकर्षक रंग बिरंगी विद्युत साज सज्जा से सजी झांकिया श्रद्धालुओं के आकर्षण का केन्द्र बनी। स्वचालित झांकिया, कछी घोडी में पाली के कलाकार राजेन्द्र कुमार प्रजापति के नेतृत्व में विभिन्न आकर्षक नृत्य गरबा, डांडिया, गैर की प्रस्तुतियां दी गई। महाकाल झाझ मण्डल उज्जैन, कश्मीरी ढोल, श्रृंगारित जगन्नाथ की प्रतिमा कृष्ण, सुभद्रा, बलराम की प्रमुख आकर्षण का केन्द्र थी यात्रा में सबसे आगे जिला प्रशासन एवं पुलिस के आला अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था पर निगाहें रखे हुए थे। केसरिया ध्वज एवं स्वर्ण छत्र लिए दो युवा चलायमान थे। बैण्ड पर सज रहे भोले बाबा निराले गोटे में, रामजी की निकली संवारी, माखन चोर नंदकिशोर बांसुरी वाला, मुरली वालो मधुसूदन घनश्याम, अरे द्वारपालों कन्हैया से कह दो, राध ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा, चारभुजा का धाम, म्हारा किर्तन में रस बराओ, कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आनो है आदि भजनों की स्वर लहरियां बिखर रही थी। यात्रा में दोनों और दुधिया रोशनी के फोकस पर गाड़ी चलायमान थी पूरी यात्रा रंगबिरंगी रोशनी से सराबोर हो रही थी। साथ ही यात्रा में हरि बोल प्रभात फेरी बड़ा मंदिर डीकेन के श्रद्धालु भक्तों ने चारभुजा के भजन प्रस्तुत करते हुए चल रहे थे। महिलाएं लाल पीली चुनरी में तथा पुरूष सफेद वस्त्रों में उपस्थित थे। कछी घोडी में सोजतसिटी से आए राजू, राकेश, धीरज, विपिन प्रजापति द्वारा आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया गया। रथयात्रा के स्वागत के दौरान नयाबाजार में भजनों की स्वर लहरियां पर श्रद्धालु भक्त भी झुम कर नाचने को मजबूर हो गए। रथयात्रा समिति संरक्षक शिवनारायण गर्ग, संरक्षक ओ.पी. मंत्री, रथयात्रा संयोजक राजेन्द्र गर्ग पप्पी सर, अग्रवाल समाज नीमच अध्यक्ष ओमप्रकाश बंसल, माहेश्वरी समाज नीमच श्यामसुंदर अजमेरा, अग्रवाल समाज कार्यवाहक अध्यक्ष कमल बिंदल, खण्डेलवाल समाज के रमेशचंद्र खण्डेलवाल, सकल ब्राम्हण समाज कल्याण समिति शैलेष जोशी, व्यापारी संघ अध्यक्ष राकेश भारद्वाज, समाजसेवी प्रहलादराय गर्ग, वात्सल्य समिति जिलाध्यक्ष संतोष चौपड़ा, पोरवाल समाज के प्रकाश मण्डवारिया, गौड़ ब्राम्हण समाज के महेश शर्मा, पूज्य सिंधी पंचायत समिति मनोहर अर्जनानी, जायसवाल समाज अध्यक्ष राजेश जायसवाल, अखिल भारतीय जायसवाल महासभा के राष्ट्रीय सचिव अर्जुनसिंह जायसवाल, स्वर्णकार समाज नरेन्द्र सोनी, सिक्ख समाज हरभजनसिंह सलूजा, ग्वाला गवली समाज धन्नालाल पटेल व रामप्रसाद चौधरी, रथ सजाओ समिति के मुरलीधर मण्डोवरा, सुनील काबरा, नवीन गटृनी, योगेश पंत, सर्व सहयोग समाज विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल, फूलमाली सैनी समाज, पंजाबी समाज, पाटीदार समाज, साहु तेली समाज, सेन समाज, अहीर समाज, यादव समाज, राजपूत समाज, जाटव समाज, घाणीवार तेली समाज, मालवीय समाज, चौरसिया समाज, धाकड़ समाज, गुर्जर समाज, आंजना समाज, प्रजापति समाज, गायरी समाज, धोबी समाज, ग्वाला गवली समाज, समस्त धार्मिक एवं अनुसांगिक संगठन एवं समास्त सनातन धर्म के श्रद्धालु भक्त बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
5 घंटे श्रद्धालुओं ने हाथों में रथ खींचा -
रथयात्रा जाजू बिल्डिंग स्थित श्रीराम मंदिर से शाम 6 बजे पूजा अर्चना के साथ प्रारम्भ हुई, जो सर्राफा बाजार होते हुए घंटाघर के समीप स्थित नृसिंह मंदिर पहूंचकर करीब 5 मिनट रूकी। यहा भगवान ने अपनी मौसी के घर रूककर 5 मिनट जलपान किया। इसके बाद फिर रथयात्रा नयाबाजार, बारादरी, फव्वारा चौक, फ्रूट मार्केट चौराहा, फोर जीरो चौराहे होते हुए अग्रसेन वाटिका पहूंचकर रात करीब 11 बजे महाआरती के साथ सम्पन्न हुई। यहां पर महाप्रसादी का वितरण किया गया। इस प्रकार शाम 6 बजे से प्रारम्भ होने वाली रथयात्रा में रकीब 5 घंटे तक श्रद्धालु अपने हाथों से भगवान जगन्नाथ रथ खींचकर उन्हें शहर भ्रमण करवाया।
विहिप एवं बजरंग दल ने किया स्वागत -
नयाबाजार में जगन्नाथ रथयात्रा का बजरंग दल एवं विश्व हिन्दू परिषद् के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा पुष्प वर्षा कर आत्मिय स्वागत किया गया। इस अवसर पर कपित बैरागी, विजय सांखला, दीपु रावत, सुनील नामदेव, अजय कोशल, लक्ष्मण राठौर, टीमू खुआर आदि उपस्थित थे।
पूज्य सिंधी पंचायत ने लिया आर्शीर्वाद -
पूज्य सिंधी पंचायत के पदाधिकारियों एवं समाजजनों द्वारा बजरंग चौक, भोजु का चौराहा पर जगन्नाथ रथयात्रा में भगवान जगन्नाथ को पुष्प अर्पित कर आर्शीवाद ग्रहण किया। इस अवसर पर पूज्य सिंधी पंचायत के अध्यक्ष मनोहर अर्जनानी, चन्दु तलरेजा, मोहन कालानी, चन्द्रप्रकाश मोमू लालवानी, आसनदास चांवला, राजेश सोनी, महेश पंजवानी, मुरली प्रेमाणी, मुरली लालवानी, मनीष टिलवानी सहित बड़ी संख्या मे समाजजन उपस्थित थे।

Source : Apna Neemuch