मौत का ऐसा सस्पेंस सिर में गोली लगने से आत्महत्या लेकिन पिस्टल गायब, खुला तो सब चौंक पड़े

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
एकलिंगपुरा में श्रमिक की मौत का मामला हत्या का नहीं होकर आत्महत्या का निकला। अब तक जिस साथी चालक पर हत्या का शक किया जा रहा था, क्योंकि वह मौके से पिस्टल ले गया था। पिस्टल अवैध होकर ठेकेदार की थी जिसे उसने डर के मारे कमरे से गायब कर अन्य जगह फेंक दी। पुलिस ने आरोपी को अवैध पिस्टल रखने के आरोप में गिरफ्तार कर पूरे घटनाक्रम का पटाक्षेप किया। एसपी कैलाशचन्द्र विश्नोई ने बताया कि पठानकोट निवासी राहुल सिंह का गत 17 सितम्बर को एकलिंगपुरा में मनवार होटल के सामने स्थित अनिल पालीवाल के मकान में शव मिला था। उसके सिर से गोली आरपार हो गई थी। मौके पर उसका साथी चालक परवीत सिंह पुत्र रमेश सिंह पंजाबी मिला। पूछताछ में उसने बताया कि वह सवा साल से एस.पी. सिगला कन्ट्रक्शन कंपनी में बड़े ट्रोले का चालक है। खलासी के लिए वह रिश्तेदार राहुल सिंह को 20 दिन पहले ही गांव से उदयपुर लेकर आया था। घटना वाले दिन वह शाम करीब 7.30 बजे कमरे पर पहुंचा तो राहुल का खून से लथपथ शव पड़ा था। एएसपी गोपाल स्वरूप मेवाड़ा के नेतृत्व में उपाधीक्षक राजीव जोशी, सीआई संजीव स्वामी मय टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया तो उन्हें वहां पर कारतूस व खाली खोल पड़ा मिल गया लेकिन हथियार नहीं मिला। हत्या की आशंका में पुलिस ने परवीत सिंह को हिरासत में लिया। गुरुवार को परिजनों के पहुंचने पर पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों के सुपुर्द किया। वरिष्ठ मेडिकल ज्यूरिष्ठ डॉ.मनीष शर्मा ने टीम का मृतक का पोस्टमार्टम किया। चिकित्सकीय रिपोर्ट व एफएसएल के साक्ष्य में मृतक द्वारा सिर पर टिकाकर गोली चलाने की पुष्टि हुई। सिर के एक तरफ उसके फायर के बाद पिस्टल के अगले हिस्से का निशान भी बना हुआ था।
--
पिस्टल फेंकने से संदेह गहराया था
पुलिस ने चालक परवीतसिंह से पूछताछ की तो उसने बताया कि सुरक्षा के लिए उसने देसी पिस्टल खरीदी थी जिसमें दो जिंदा कारतूस थे। पिस्टल उसने अपने किराए के कमरे पर रख दी। घटना वाले दिन वह राहुल को कमरे पर ही छोडकऱ दोस्तों के साथ नाथद्वारा चला गया। शाम को लौटा तो मेरी पिस्टल से राहुल द्वारा सिर में फायर कर रखा था। मैंने डर के मारे पिस्टल को टेक्नो कॉलेज के पास झाडिय़ों में फेंक दी। पुलिस ने साथी श्रमिक आशीष व मनीष से भी पूछताछ की तो पता चला कि मृतक रात में भूत-प्रेत से डरता था। रात को अचानक उठ जाता, वह यहां से घर जाना चाहता था। अक्सर व गुमसुम व मानसिक अवसाद में रहता था। पुलिस परवीतसिंह को अवैध रूप से हथियार रखने के मामले में गिरफ्तार कर पिस्टल बरामद की।