मेवाड़ महोत्सव के दौरान मतदाता होंगे जागरूक

प्रमोद सोनी

उदयपुर . अगले माह तीन दिवसीय मेवाड़ महोत्सव की तैयारियों व आयोजन को लेकर गुरुवार को कलक्ट्री सभागार में अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर संजय कुमार की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में नगर निगम आयुक्त अंकित कुमार, पर्यटन उपनिदेशक शिखा सक्सेना सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी एवं पर्यटन व्यवसाय से जुड़े प्रतिनिधि मौजूद थे।

बैठक में एडीएम सिटी ने आयोजन से जुड़े विभिन्न विभागों, होटल्स एवं अन्य संस्थानों को महोत्सव को सफल बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर निगम को जगदीश चौक व गणगौर घाट पर सफाई व पेयजल, आकर्षक रोशनी, गोताखोर की व्यवस्था सुनिश्चित करने सहित सभी चौराहों के फव्वारे चालू रखने के निर्देश दिए।

इसके अलावा आयोजन स्थल पर पुलिस जवान व महिला कांस्टेबल की नियुक्ति, कानून व्यवस्था, एवीवीएनएल को संबंधित क्षेत्र में निर्बाध विद्युत आपूर्ति करने, सार्वजनिक निर्माण विभाग को नि:शुल्क बेरिकेटिंग कराने व पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से बागौर की हवेली पर रोशनी सहित विशिष्ट अतिथियों व विदेशी पर्यटकों के लिए बैठक व्यवस्था सुनिश्चित करने बाबत भी कहा।

इधर, होटल लेक पैलेस को 8 अप्रेल को गणगौर की शाही सवारी के दौरान गणगौर बोट व कलाकारों के लिए अलग बोट की व्यवस्था करने तथा महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन की ओर से 8 व 9 अप्रेल को अधिकारियों व विशिष्ट अतिथियों के लिए सिटी पैलेस परिसर में नि:शुल्क पार्किग स्थल उपलब्ध कराने की बात कही।

होंगे विभिन्न आयोजन

पर्यटन उपनिदेशक शिखा सक्सेना ने बताया कि मेवाड़ समारोह के प्रथम दिन 8 अप्रेल को शाम 4 से 6 बजे तक शहर में विभिन्न समाजों की गणगौर सवारी गणगौर घाट पहुंचेगी। इसी शाम 6 से 7 बजे तक बंशी घाट से गणगौर घाट तक शाही गणगौर की सवारी प्रमुख आकर्षण का केन्द्र रहेगी। बाद में सांस्कृतिक संध्या व आतिशबाजी का आयोजन होगा। इसी क्रम में दूसरे दिन 9 अप्रेल को शाम 7 बजे गणगौर घाट पर विदेशी युगल के लिए राजस्थानी पोशाक प्रतियोगिता का आयोजन होगा। इस दौरान ८ से १० अप्रेल को तीनों दिन गोगुन्दा में ग्रामीण हाट बाजार के साथ सांस्कृतिक संध्या व आतिशबाजी के विविध आयोजन होंगे।

मतदाताओं को करेंगे जागरूक

एडीएम सिटी एवं नगर निगम आयुक्त ने मेवाड़ महोत्सव के दौरान शहर सहित गोगुन्दा में होने वाले कार्यक्रमों में भागीदार बने कलाकारों, दर्शकों एवं आमजन को मतदान के प्रति जागरूक करने तथा अधिक से अधिक मतदान के लिए प्रेरित करने की बात कही। इसके लिए उन्होंने दीपदान के माध्यम से मतदाताओं को जागरूक करने का सुझाव भी दिया।