मेले के माध्यम से समझाया पोषण का महत्व

चित्तौडग़ढ़. महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जिला स्तर पर मनाए जा रहे पोषण पखवाड़ा के तहत सोमवार को मार्बल लघु उद्योग संस्थान परिसर में जिला स्तरीय पोषण मेले का आयोजन हुआ। पोषण मेले का शुभारम्भ अतिरिक्त जिला कलक्टर विनय पाठक ने किया। पोषण मेले में पूरक पोषाहार से बने व्यंजन, शाला पूर्व शिक्षा, पोषण योजना की जानकारी, सामुदायिक गतिविधि, स्वास्थ्य जांच से संबंधित स्टॉल लगाई गई। महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक शान्ता मेघवाल ने बताया कि जिले में पोषण अभियान के तहत 8 से 22 मार्च तक सुपोषित जननी विकसित धारिणी व पोषण पखवाड़ा अंतर्गत पोषण मेले का आयोजन किया गया है। मेले में सामुदायिक गतिविधि के तहत 21 गर्भवती महिलाओं की गोदभराई व 6 माह पूर्ण कर चुके 15 बच्चों का अन्नप्राशन उत्सव मनाया गया। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुनील तेली ने पोषण व स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी दी। खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. हरिश उपाध्याय ने संस्थागत प्रसव एवं स्वास्थ्य विभाग में चल रही योजनाओं की जानकारी दी। खुशी परियोजना द्वारा नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया। इसमें आंगनवाड़ी पर मिल रहे पोषण से संबंधित सम्पूर्ण लाभ की जानकारी दी गई। संचालन महिला पर्यवेक्षक प्रतिभा पगारिया ने किया। पोषण मेले में राजेश्वरी वर्मा,विजयलक्ष्मी जोशी , समता भटनागर नरेन्द्र सिंह राजपूत, मनीषा खन्ना, राजेश शर्मा सहित कई विभागीय अधिकारी मौजूद थे।