मासूम बाल‍िका से बलात्‍कार का आरोपी अब भी पुल‍िस की ग‍िरफ्त से दूर.. संदिग्धों से पूछताछ

शंकर पटेल/गींगला. स्वतंत्रता दिवस पर गींगला गांव में 11 वर्षीय बच्ची के साथ बलात्कार मामले में आरोपी तीन दिन बाद भी पुलिस की पहुंच से बाहर है। हालांकि पुलिस कुछ संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। एसपी कुंवर राष्ट्रदीप के निर्देश पर थाना प्रभारियों को टीमें गठित की गई, जो क्षेत्र में घूमकर आरोपी की तलाश में जुटी हुई है। तकनीकि आधार पर भी छानबीन की जा रही है। घटना को लेकर ग्रामीणों में जबर्दस्त आक्रोश है। उन्होंने आरोपी के पकड़ में नहीं आने पर आंदोलन की चेतावनी तक दी है। इधर, ग्रामीण पीडि़त के घर पहुंचकर परिजनों को ढांढस भी बंधा रहे हैैं।


कागजों में थाना, मौके पर अब भी चौकी
गींगला पुलिस चौकी को अप्रेल में बजट पर बहस के दौरान थाने में क्रमोन्नत करने को मंजूरी मिल गई थी लेकिन अब तक पुलिस चौकी ही चल रही है। इसके जिम्मे कई गांवों की सुरक्षा, अपराधों की रोकथाम, शांति व्यवस्था एवं ईडाणा माता मंदिर की व्यवस्था है। इसके अलावा क्षेत्र से बजरी खनन पर अंकुश के लिए भी पुलिस को भाग दौड़ करनी पड़ती है। वर्तमान में एक हैड कांस्टेबल तैनात है और सहयोगी के लिए जावद चौकी से जवान है। गत दिनों गींगला में एक मकान में चोरों ने धावा बोल कर दम्पती को घायल कर गहने चुरा लिए थे। अब बलात्कार की घटना ने क्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी है। ग्रामीणों का कहना है कि जब थाने की मंजूरी मिल गई तो फिर काम का संचालन क्यों नहीं हो रहा है। उन्होंने भवन बने तब तक स्टाफ बढ़ाने की भी मांग की है।

 

READ MORE : उदयपुर में इस मौसम की सर्वाध‍िक बार‍िश , एक घंटे में दो इंच बरसा पानी, लोगों ने ली राहत की सांस..


पीडि़ता से मिली बाल कल्याण समिति
बाल कल्याण समिति ने इस प्रकरण में प्रसंज्ञान लेते हुए पीडि़ता और उसके परिजनों से अस्पताल में मुलाकात की, वहींअस्पताल प्रबंधन को निर्देश दिए कि इलाज में किसी तरह की लापरवाही नहीं बरतें। समिति सदस्य डॉ प्रीति जैन, डॉ राजकुमारी भार्गव, सुशील दशोरा, बीके गुप्ता, हरीश पालीवाल ने आपात बैठक कर पीडि़ता से मिलने अस्पताल पहुंचे। समिति ने सलूम्बर थानाधिकारी से भी प्रकरण में जल्द कार्रवाई कर आरोपी को पकडऩे और रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि पीडि़ता को प्रतिकर स्कीम के तहत राहत दिलाने की कार्रवाई की जाएगी।


पूछी कुशलक्षेम
कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य रघुवीर मीणा एवं सलूम्बर की पूर्व विधायक बसंती मीणा ने एमबी अस्पताल में पीडि़ता के परिजनों से मुलाकात कर कुशलक्षेम पूछी। उन्होंने घटना की कड़ी निंदा करते हुए दोषियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की।