मामूली से विवाद के चलते गरमाया मामला, देवर ने तलवार से की भाभी की हत्या, भाई और भतीजे पर भी किए वार

डूंगरपुर।

राजस्थान में लगातार अपराधों की संख्या बढ़ती जा रही हैं। हाल ही में प्रदेश के डूंगरपुर जिले से रूह कंपा देने वाली घटना सामने आई है। डूंगरपुर जिले के पुनावाड़ा गांव में रुपए के लेनदेन में दो भाईयों के बीच विवाद हो गया। इसमें छोटे भाई ने आवेश में आकर तलवार उठा ली। बीच बचाव में आई भाभी की तलवार के वार से मौत हो गई। वहीं उसका पुत्र भी गंभीर रूप से घायल हो गया।


पुलिस के अनुसार पुनावाड़ा निवासी कालू पुत्र भूरा डामोर व उसके छोटे भाई रमण पुत्र भूरा के बीच गुरुवार रात को विवाद हुआ। विवाद ने देखते ही देखते बड़ा रूप ले लिया और कहासुनी हाथापाई तक पहुंच गई। रमण आवेश में आकर कालू पर तलवार से वार करने के लिए जैसे ही आगे बढ़ा इस पर कालू की पत्नी शारदी (48) ने बीच बचाव का प्रयास किया। रमण ने अपनी भाभी पर तलवार से वार कर दिया। इस दौरान भतीजा शैलेष भी बीच बचाव करने गया तो उसे पर भी वार किए। वहीं मां-बेटे को गंभीर हालत में निजी वाहन से सीमलवाड़ा अस्पताल लाते समय शारदी ने रास्ते में दम तोड़ दिया। शैलेष को प्राथमिक उपचार के बाद गुजरात ले गए हैं।


पीहर पक्ष ने किया हंगामा

सूचना पर थानाधिकारी बृजेश कुमार, एएसआईं बालकृष्ण पाटीदार, कर्णवीरसिंह, शंकर सालवी, हैडकांस्टेबल प्रकाशचन्द्र मीणा, कांस्टेबल जीतमल मीणा सीमलवाड़ा अस्पताल पहुंचे। शव को मुर्दाघर में रखवाया। शुक्रवार सुबह पीहर पक्ष के लोग बड़ी संख्या में एकत्र हो गए। उन्होंने आरोपित को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए हंगामा किया और शव उठाने से इनकार कर दिया।

 

पुलिस ने निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया, तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। मृतका के पति कालू की रिपोर्ट पर हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने आरोपित को पूछताछ के लिए अधिग्रहित किया है।


यह था विवाद

थानाधिकारी ने बताया कि बड़े भाई कालू ने रमण की बेटी की शादी होने से अपने बैंक खाते से लोन लेकर राशि दी थी। रमण ने यह राशि समय पर जमा नहीं कराई। इससे तकाजा कालू से चल रहा था और उसकी मनरेगा की मजबूरी राशि भी लोन में जमा हो जाने से उसे नहीं मिल रही थी। इसी बात को लेकर दोनों भाईयों में गुरुवार को विवाद हुआ था।