मंदिर में चोरी करते दो युवकों को ग्रामीणों ने रंगे हाथों पकड़ा और फ‍िर बांधकर क‍िया पुल‍िस के हवाले

उदयपुर. जिले के गींगला थाना क्षेत्र के उथरदा गांव में कनामाता मंदिर से चोरी का प्रयास करते दो युवकों को ग्रामीणों ने रंगेहाथ पकड़ते हुए पिलर के बांध दिए । बाद में पहुंची गींगला थाना पुलिस को सुपुर्द किए गए। गींगला थानाधिकारी गजसिंह ने बताया कि सूचना पर उथरदा कना माता मंदिर पुलिस जाप्ता पहुंचे जहां कई ग्रामीण जमा थे और चोरी के प्रयास में दो युवकों को हिरासत में लिया। दोनों युवक उथरदा के ही निवासी फतह लाल पुत्र कालू मीणा व दूसरा ख्याली उर्फ कैलाश पुत्र कालू मीणा है। मामला दर्ज कर पूछताछ की जा रही है।

यूं आए पकड़ मेंः ग्रामीणों ने बताया कि नवरात्र समापन के बाद कुछ महिलाएं सुबह दर्शन को पहुंची तो वहां कुछ युवक दानपात्र में आंकडी डालते देखे तो चुपचाप वे वापस लौट आई और कहने लगे कि अंदर चोर है तब गांव से कई ग्रामीण मंदिर पहुंच गए और उन्हें रंगे हाथ पकड़ लिया। फिर पकड़ते हुए उन्हें मंदिर परिसर में पिलर के पास कपड़े से बांध दिया। इस दौरान कुछ लोगों ने थप्पड भी मारे। बाद में पुलिस को सूचना दी और पुलिस उन्हें थाने ले गई।

कनामाता इसलिए है प्रसिद्धः गौरतलब है कि कनामाता मंदिर उंची पहाड़ी पर स्थित है जहां मंदिर में रजत जड़ित प्रतिमा है। मंगलवार को नवरात्र उत्थान पर पहाड़ी से गांव से होते हुए झामरी नदी तक करीब 50 से अधिक भौपों की सरवर यात्रा निकली और यहां के मुख्य भोपाजी हर वर्ष की भांति मंदिर से सरवर यात्रा शुरू होने के दौरान मुंह में दोनों गाल के आर पार लोहे की त्रिशूूल धारण करते हैंं जिसे नदी पहुंचने पर निकाली जाती है। केवल भभूत लगाई जाती है फिर आगामी वर्ष की भविष्यवाणी की जाती है। इसलिए प्रसिद्ध स्थानक है।