भाजपा ने कहा- किसान-बेरोजगारों से वादा-खिलाफी बर्दाश्त नहीं, कांग्रेस बोली- जेल भरो आंदोलन हास्यास्पद

राजसमंद. कांग्रेस की राज्य में किसानों के लिए कर्ज माफी की घोषणा सरकार बनने के बाद लागू नहीं करने के विरोध में भाजपा की ओर से शुक्रवार को जिला मुख्यालय से पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर धरना-प्रदर्शन किया गया। इसके बाद सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी। धरने पर राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी, कुंभलगढ़ विधायक सुरेंद्र सिंह राठौड़, नाथद्वारा से हारे भाजपा प्रत्याशी महेश प्रताप सिंह, भीम के पूर्व विधायक हरि सिंह रावत, भाजपा जिला अध्यक्ष वीरेंद्र पुरोहित, पूर्व जिला अध्यक्ष भंवरलाल शर्मा सहित अनेक भाजपा पदाधिकारी एवं दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे। भाजपा के दोनों गुटों के कार्यकर्ता और पदाधिकारी मौजूद नजर आए।
वक्ताओं ने राज्य की गहलोत सरकार और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्हें झूठ का पुलिंदा बताया और कहा कि यह सरकार किसानों के कर्ज माफी के बहाने कर्ज वसूली में जुटी हुई है। किसानों को कर्ज माफी के पत्र की बजाय वसूली के नोटिस थमाए जा रहे हैं, जो विपक्ष बर्दाश्त नहीं करेगा। चुनाव के समय झूठा वादा किय गया। 10 दिनों में कर्ज माफी और बेरोजगारों को रोजगार भत्ता देने का वादा कियाथा। जिलाध्यक्ष पुरोहित के नेतृत्व में आयोजित धरने में विधायक किरण ने कहा कि कांग्रेस ने कभी किसी का विकास नहीं किया, सदैव खुद का विकास किया है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री को चोर कहने वाले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुद ज़मानत पर रिहा होकर ईमानदार प्रधानमंत्री पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। देश को लूटने के लिए महागठबंधन बनाया जा रहा है। देश की जनता सब जानती है एवं उनकी बातों में आने वाली नहीं है। कुंभलगढ़ विधायक राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस को प्रदेश में भाजपा से मात्र आधा प्रतिशत वोट ही ज्यादा मिले हैं, इसलिए अधिक गुरूर करने की जरूरत नहीं है। पूर्व विधायक रावत ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेश के किसानों के पचास हजार रुपए के कर्ज माफ किए थे, लेकिन इस सरकार ने कर्ज माफी के नाम पर किसानों से धोखा किया है। जिलाध्यक्ष पुरोहित ने कहा कि जिले के सभी पार्टी कार्यकर्ता एकजुट होकर कांग्रेस सरकार के किसानों एवं बेरोजगारों के हितों के खिलाफ किसी भी कदम का खुलकर विरोध करेंगे। जेल जाने से नहीं डरेंगे। भाजपा जिला मीडिया प्रमुख प्रमोद गौड़ ने बताया कि धरने को महेश प्रताप सिंह चौहान, भीम प्रधान नरेन्द्र बागड़ी, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष जगदीश पालीवाल, शरद बागोरा, पार्षद मोहन कुमावत ने भी सम्बोधित किया। यहां पूर्व जिला अध्यक्ष भंवरलाल शर्मा, नन्दलाल सिंघवी, पूर्व विधायक बंशीलाल खटीक, नगरपरिषद सभापति सुरेश पालीवाल, जिला प्रमुख प्रवेश कुमार सालवी भी उपस्थित थे। धरने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी, जिन्हें बस में बैठाकर ले जाया गया। बाद में सभी को 100 फीट रोड पर ले जाकर रिहा कर दिया गया।


जेल भरो आंदोलन हास्यास्पद : कांग्रेस
कांग्रेस ने भाजपा के धरना-प्रदर्शन एवं जेल भरो आंदोलन को हास्यास्पद बताते हुए आरोप लगाया कि ऐसे कृत्यों के जरिए आमजन को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है। नगर परिषद में प्रतिपक्ष नेता अशोक टांक, पार्षद नारायण सुथार, ब्रजेश पालीवाल, राजकुमारी पालीवाल, सुनीता रजक, नंदकिशोर कुमावत, भूरालाल कुमावत, रेखा गायरी, सीमा खत्री, हेमंत गुर्जर, हेमंत रजक व रोहित पंचोली ने कहा कि चुनाव पूर्व किया वादा पूरा करते हुए गहलोत सरकार ने सम्पूर्ण प्रदेश में किसानों के फसली ऋण मााफ ी की कार्रवाई शुरू कर दी है। बेरोजगारी भत्ते के लिए भी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है तथा प्रदेश के लाखों युवा अपना पंजीयन एवं आवेदन कर रहे हैं।