भाजपा कर रही है किसानों को गुमराह -भगत वर्मा

मेवाड़ किरण @ नीमच -

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने सरकार बनने के बाद अपना वादा पूरा निभाया है तथा वचन पत्र के अनुसार कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही दो घंटे में मध्यप्रदेश के किसानों का दो लाख रूपये का कर्ज माफ करने का आदेश जारी किया था। यह कमलनाथ सरकार का सबसे पहले बडा ऐतिहासिक निर्णय था, जो काम भाजपा की सरकार 15 वर्ष में नहीं कर पाई, वह काम मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दो घंटे में कर दिखाया। नीमच भाजपा के प्रवक्ता ने जो कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाए हैं, वे झूठे व बेबुनियाद हैं। नीमच जिला कांग्रेस के प्रवक्ता भगत वर्मा ने एक प्रेसनोट में बताया कि भाजपा के नेता किसान ऋणमाफी को लेकर किसानों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं। कर्ज माफी की प्रक्रिया का काम प्रारंभ किया गया है। कमलनाथ सरकार ने 12 दिसम्बर 2018 तक के कर्जदार किसानों को भी इसमें शामिल कर कर्जमाफी सीमा का विस्तार किया है। भाजपा के जिला प्रवक्ता के सभी आरोपों को खारिज करते हुए प्रवक्ता श्री वर्मा ने कहा कि फोटो खिंचवाने की राजनीति भाजपा के नेता करते हैं। कांग्रेस के नेता जनहित के कार्य में विश्वास करते हैं। ओला प्रभावित क्षेत्रों का सर्वे शीघ्र होगा तथा ओला पीडित किसानों को सर्वे के आधार पर मुआवजा मिलेगा। सर्वे करने का काम जिला प्रशासन का है। पूर्व भाजपा शासनकाल में ओला से पीडित किसानों को पूर्ण रूप से नहीं मिला था। कांग्रेस सरकार किसानों के हित की बात करती है। कमलनाथ सरकार अब किसानों को घर बैठे पेंशन देगी तथा आधा बिजली का बिल भी माफ करेगी। नीमच जिले में एक लाख नौ हजार किसानों को ऋणमाफी का लाभ मिलेगा। जिला सहकारी बैंक ने जिले के नीमच, जावद, मनासा ब्लाॅक की 63 सोसायटियों में सूची बनाने का कार्य तीव्र गति से चल रहा है। नीमच जिले में 236 पंचायतों में सूची प्रकाशन का काम प्रारंभ हो गया है। नीमच जिले में 40 फीसदी किसानों का कर्जमाफ होगा। जिसकी राशि 545 करोड रूपये होगी। किसानों का कर्ज 1 अप्रैल 2018 से 12 दिसम्बर 2018 तक की सीमा का लिया गया है। अभी तक 80 हजार से ज्यादा किसानों ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत अपने फार्म जमा करवाए हैं। अभी फार्म भरने की प्रक्रिया चल रही है। प्रवक्ता श्री वर्मा ने बताया कि ग्राम ढाबा के किसान ईश्वरलाल गायरी ने एक लाख अडतीस हजार रूपये का कर्ज लिया था, कर्ज माफ होने को लेकर वह बेहद खुश है क्यांकि वह गरीब होने के कारण अपना कर्ज नहीं चुका पाया था। अब नीमच जिले सहित पूरे प्रदेश में किसान कर्ज से मुक्त हो जायेगा।

Source : Apna Neemuch