भदेसर पुलिस ने किया हत्या का खुलासा

चित्तौडग़ढ़. भदेसर थाना क्षेत्र के सूरजगढ़ में तीन माह पूर्व घर में सोए हुए व्यक्ति पर प्राणघातक हमले तथा एक पखवाड़े पूर्व हुई मौत के मामले में मध्य प्रदेश से एक जनों को गिरफ्तार किया है इनमें से दुसरे के नाबालिग होने से उसे डिटेन किया है। थाना प्रभारी सुरेश विश्नोई ने बताया कि भदेसर थाना क्षेत्र के सूरजगढ़ गांव में 30 अप्रैल की रात दशरथ सिंह बरडा पुत्र गोपाल सिंह घर के ढालिये में सोया हुआ था कि रात में बदमाश लाठियों से हमला कर फरार हो गए । घटना की सूचना रात्रि में ही दशरथ सिंह के भतीजे ने थाने में दी तथा को घायल को पहले भदेसर तथा बाद में उदयपुर अस्पताल में भर्ती कराया तथा इस संबंध में भदेसर थाने में प्राणघातक हमले का मुकदमा दर्ज कराया। युवक युवक का 1 माह तथा बाद में 1 माह और उदयपुर अस्पताल में दो बार उपचार कराने के बाद घर पर ही आराम कर रहे थे कि 20 जुलाई को उनकी मौत हो गई। पुलिस ने यह मामला हत्या में तब्दील करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल के दिशा निर्देश पर थाना प्रभारी सुरेश बिश्नोई के नेतृत्व में टीम गठित कर जांच शुरु की। जांच में पता चला कि मृतक दशरथ सिंह की पत्नी का निधन हो जाने के बाद गांव की महिला से अवैध संबंध थे मृतक दशरथ सिंह इस महिला से मिल कर पीहर बसई थाना सीतामऊ जिला मंदसौर की भूमि संबंध में भी विवाद खड़ा कर रहा था इन्हीं दोनों कारणों के चलते महिला के पीहर पक्ष के रिश्तेदार आरोपी प्रवीण सिंह पुत्र नागु सिंह निवासी नकेडिया थाना सीतामऊ एक नाबालिक को साथ लेकर 30 अप्रैल की रात बस से आया तथा आवरी माता उतर के पैदल सूरजगढ़ पहुंचे । वहां ढालिये में सोए हुए दशरथ सिंह पर लाठियों से सिर में मार कर फरार हो गए । पुलिस ने इस मामले में एक किशोर को भी डिटेन किया है जिसे किशोर न्यायालय में पेश किया जाएगा। पुलिस टीम में सहायक उप निरीक्षक अशोक कुमार, हेड कांस्टेबल लक्ष्मी लाल व सुभाष चंद्र, कांस्टेबल नारायण लाल, देवीलाल ,गोकुल ,अनिल, अनुज कुमार व राजकुमार शामिल थे।