बारिश से नदी-नाले उफान पर, कीचड़ बना परेशानी

मंदसौर.
शहर में मंगलवार को भी सुबह से देर रात तक रुक-रुककर रिमझिम बारिश का दौर जारी रहा। वहीं सोमवार की अपरान्ह ३ बजे रिमझिम बारिश का दौर शुरु हुआ। जो शाम करीब ६ बजे तक जारी था। बारिश से शहर में कई स्थानों पर कीचड़ पसर गया। इससे लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है। इसके साथ ही जिले में कई स्थानों पर रिमझिम बारिश हुई। जिले में इस वर्ष अबतक औसतन 343.3 मिमी (१३.५) वर्षा दर्ज की गई है। जबकि पिछले 24 घन्टों में मंदसौर जिले में 14.8 मिमी वास्तविक वर्षा दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटो में मंदसौर में 4 मिमी, सीतामऊ में 22 मिमी, सुवासरा में 28.2 मिमी, गरोठ में 18 मिमी, भानपुरा में 24.6 मिमी, मल्हारगढ़ में 13 मिमी, धुधंडका में 3 मिमी, शामगढ़ में 17.2 मिमी, संजीत में 6 मिमी एवं कयामपुर में 12.4 मिमी वास्तविक वर्षा दर्ज की गई है। विगत 1 जून से अबतक वर्षामापक केन्द्र मंदसौर में 217 मिमी, सीतामऊ में 399 मिमी, सुवासरा में 420.2 मिमी, गरोठ में 323.8 मिमी, भानपुरा में 412.4 मिमी, मल्हारगढ़ में 217 मिमी, धुधंडका में 437 मिमी, शामगढ़ में 461 मिमी, संजीत में 264 मिमी एवं कयामपुर में 282 मिमी वास्तविक वर्षा दर्ज की गई है। गत वर्ष इसी अवधि में जिले में वर्षामापक केन्द्र मंदसौर में 317 मिमी, सीतामऊ में 314, सुवासरा में 336.4 मिमी, गरोठ में 257.9 मिमी, भानपुरा में 365.6 मिमी, मल्हारगढ़ में 494 मिमी, धुधंडका में 415.5 मिमी, शामगढ़ में 306.2 मिमी, संजीत में 353.5 मिमी एवं कयामपुर में 336 मिमी वास्तविक वर्षा दर्ज की गई थी। गांधीसागर बांध का जलस्तर 23 जुलाई को 1273.53 फीट दर्ज किया गया।
इंद्रगढ़ जलाशय हुआ लबालब, वेस्ट वेयर से चली चादर
भानपुरा नगर सहित तहसील क्षेत्र में रविवार शाम से प्रारंभ हुआ। बारिश का दौर रुक- रुककर पूरी रात्रि जारी रहा एवं सोमवार को भी पूरे दिन रुक रुक कर बारिश का दौर चलता रहा। इसके चलते मौसम में अच्छी खासी ठंडक घुल गई है। अभी तक हुई नगर सहित क्षेत्र में बारिश से अधिकांश जलस्रोत लबालब हो गए हैं। इंद्रगढ़ जलाशय भी लबालब होकर वेस्ट वेयर से चादर गिरने लगी है। बीते 24 घंटों में सोमवार सुबह 8 बजे तक 24.6 मिलीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई। अभी तक कुल 412.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज हो चुकी है। गतवर्ष आज ही के दिन तक 365.6 मिलीमीटर वर्षा दर्ज हुई थी। विगत 2 दिनों से रुक रुककर हुई बारिश के चलते क्षेत्र के प्राकृतिक पर्यटन स्थलों पर स्थित झरने व पहाड़ी नाले अच्छे खासे वेग से गिर रहे हैं। क्षेत्र के प्राकृतिक पर्यटन स्थलों का नजारा अच्छी खासी हरियाली छा जाने से आकर्षक मनमोहक दिखाई देने लगे हैं जो पर्यटको सैलानियों को आकर्षित कर रहे हैं। विगत दिनों में नगर सहित क्षेत्र में हुई अच्छी बारिश से अधिकांश जलस्रोत लबालब भर चुके हैं साथ ही कुओं का जलस्तर भी तेजी से बढऩे लगा है। नगर की जीवन रेखा रेवा नदी पर स्थित इंद्रगढ़ जलाशय अच्छी बारिश के चलते लबालब होकर रविवार की रात्रि में वेस्ट वेयर से चादर गिरने लगी है। इसके चलते रेवा नदी भी अच्छे वेग से बहने लगी है बीते 2 दिनों से हो रही रुक- रुककर बारिश के चलते नगर में भी कई समस्याएं उत्पन्न हो गई है। नगर परिषद के जनप्रतिनिधियों की उदासीनता व पेयजल योजना के ठेकेदार की मनमर्जी के चलते नगर में पाइप लाइन डाली जाने को लेकर नगर की सडक़ों गलियों को खोदा गया था एवं पाइप लाइन डाली जाने के बाद भी सडक़ों गलियों की मरम्मत नहीं किए जाने से नगर में कई स्थानों पर कीचड़ एवं गंदगी व्याप्त हो गई हैं। इसके चलते नगर वासियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के चलते नगर की अविकसित सब्जी मंडी पूरी तरह से कीचड़ व गंदगी से लबरेज़ हो गई है। इसके बीच ही सब्जी विक्रेता सब्जी बेचने को मजबूर हैं वही सब्जी खरीदने आने वाले महिला व पुरुषों को कीचड़ में चलने को मजबूर होना पड़ रहा है इसके बावजूद भी नगर परिषद के जवाबदार उदासीन होकरआंखें मूंदे बैठे हैं।
-------------------