बांसवाड़ा : मामूली कहासुनी में प्रौढ़ से मारपीट, 15 दिन बाद अस्पताल में मौत, ग्रामीणों ने किया हंगामा

बांसवाड़ा. करीब एक पखवाड़ा पूर्व दानपुर थाना इलाके के कटुम्बी परातपाड़ा गांव में एक प्रौढ़ के साथ हुई मारपीट के बाद शुक्रवार को अचानक उसकी मौत पर ग्रामीणों ने हंगामा खड़ा कर दिया। ग्रामीण आरोपी की गिरफ्तारी न होने तक शव न लेने पर अड़े रहे। पुलिस की काफी देर तक ग्रामीणों से समझाइश पर मामला शांत हुआ, लेकिन ऐहतियात के तौर पर मेवाड़ भील कोर तथा क्यूआरटी के जवान तैनात किए गए। बाद में पुलिस ने आरोपी को डिटेन कर लिया।

बांसवाड़ा : तेज रफ्तार डंपर की चपेट में आने से युवक की दर्दनाक मौत, रैफर के दौरान रास्ते में तोड़ा दम

पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह करीब पांच बजे कटुम्बी परातपाड़ा निवासी परतु (52) पुत्र मोती मईड़ा की अचानक तबीयत बिगड़ी। इस पर परिजन उसे महात्मा गांधी चिकित्सालय लेकर पहुंचे, जहां उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना पुलिस तक पहुंची तब पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाया और शव परिजनों को सौंपा लेकिन ग्रामीणों ने परतु की मौत का कारण पन्द्रह दिन पूर्व हुई मारपीट को बताया और आरोपी की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। इससे हंगामा खड़ा हो गया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी नंदू को डिटेन किया और इसकी जानकारी ग्रामीणों को दी तब ग्रामीण शव लेने को राजी हुए।

बांसवाड़ा में फैल रही भ्रष्टाचार की अमरबेल, ACB ने चार महीनों में चार सरकारी कार्मिकों को रिश्वत लेते दबोचा

पन्द्रह दिन पूर्व हुई थी मारपीट
थाना प्रभारी सज्जन सिंह ने बताया कि 19 जुलाई को कटुम्बी परातपाड़ा निवासी छना पत्नी परतु मईड़ा ने बारी हाल खूंटडिय़ा निवासी नंदू पुत्र लसू मईड़ा के खिलाफ मारपीट की रिपोर्ट दी थी। इस रिपोर्ट में बताया कि 18 जुलाई शाम करीब साढ़े पांच बजे नंदू उनकी दुकान पर आया। वहां आने के बाद उसने कोई गुटखा मांगा। इस बीच परतु (52) पुत्र मोती मईड़ा और नंदू के बीच कहासुनी हुई। इस पर तैश में आकर नंदू ने परतु को बेहरमी से पीटा। परतु की तबीयत बिगड़ गई तो उसे हॉस्पीटल ले गए साथ ही पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया।