बांसवाड़ा : गोविन्द गुरु कॉलेज में जाति प्रमाण-पत्रों में गफलत से फिसल सकता है आपके आरक्षण का लाभ

बांसवाड़ा. कॉलेज में आवेदन करने के बाद आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थी यदि अपना प्रवेश निश्चित मान रहे हैं तो एक बार अपलोड किए गए प्रमाण पत्रों को जरूर टटोल लें। श्री गोविन्द गुरु राजकीय महाविद्यालय की ओर से प्रथम वर्ष आनलाइन प्रमाण पत्रों की जांच में कई गंभीर गड़बड़ी सामने आई है। कॉलेज सूत्रों के अनुसार अन्य पिछड़ा वर्ग और विशेष पिछड़ा वर्ग के अधिकांश विद्यार्थियों ने अवधिपार प्रमाण पत्र अपलोड किए हैं। जबकि, राज्य सरकार के नियम अंतर्गत ऐसे विद्यार्थियों को मई 2017 के बाद का बना नॉन क्रीमी लेयर प्रमाण पत्र ही अपलोड करना है। अधिकांश विद्यार्थियों ने बहुत पुराने प्रमाण पत्र अपलोड कर दिए हैं। इसके कारण उन्हें वर्ग विशेष को प्राप्त आरक्षण सुविधा देना संभव नहीं होगा। फिलहाल ऐसे आशार्थियों के आवेदनों को नियम अंतर्गत सामान्य वर्ग में शामिल कर दिया गया है।

संशोधन का समय है
प्राचार्य डॉ डी के जैन ने बताया कि अभी भी ऐसे आवेदक ई मित्र पर जाकर अपना नवीनतम जाति प्रमाण पत्र अपलोड कर सकते हैं। यदि प्रक्रिया अंतर्गत देरी होने की आशंका हो तो ई मित्र पर नए ओबीसी एएस बीसी प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर दें और निर्धारित जमा शुल्क की रसीद भी जाति प्रमाण पत्र रूप में अपलोड कर सकते हैं। साथ ही विद्यार्थी ओबीसी होने का शपथ पत्र भी दे सेकता है। अब केवल तीन दिन ही बचे हैं। अंतिम तिथि 20 जून के बाद संशोधन संभव नहीं होगा।

किसान बीज खरीद में झेल रहे दोहरी मार
सज्जनगढ़. किसानों ने समय पर बारिश की उम्मीद के साथ खेत तैयार कर लिए और अब बीज की खरीद में जुटे हैं। लेकिन बाजार में पैसा खर्च करने के बाद भी सही बीज नहीं मिल रहा। इधर कृषि विभाग भी फसल बीज की गुणवत्ता को लेकर किसानों को जागरूक नहीं कर रहा। किसान बाजार में बीज घटिया किस्म का होने के बाद भी व्यापारी मुंह मांगा पैसा देने को मजबूर है। उन्हें पक्का बिल भी नहीं दिया जा रहा। ऐसे में किसान अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है। इस संबंध में सज्जनगढ़ ब्लॉक कृषि कार्यालय के अधिकारी नकली बीज बेचने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। सज्जनगढ़-डूंगरा सहित कई गावों में बीज बिक्री की सैकड़ों दुकानें हैं। एक-दो दुकानों को छोड़ इनके पास बीज बेचने का विभाग का पंजीयन तक नहीं है।