बांसवाड़ा : गुर्जर आंदोलन के फेर में इम्तिहान टलने से लग गया फटका, यात्रा निरस्ती पर गंवानी पड़ी टिकट की राशि

बांसवाड़ा. राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से रविवार को होने वाली कृषि पर्यवेक्षक एवं महिला सुपरवाइजर के इम्तिहान निरस्त करने से जिले में सैकड़ों अभ्यर्थियों को फटका लग गया। अपरिहार्य कारण बताकर बोर्ड द्वारा परीक्षा निरस्त करने के पीछे गुर्जर आंदोलन के कारण रेलवे और सडक़ परिवहन व्यवस्थाएं बिगडऩे का कारण सामने आया है, लेकिन इससे वागड़ में सैकड़ों परीक्षार्थी संकट में आ गए। दरअसल, अजमेर, कोटा व जयपुर केन्द्रों पर हो रही परीक्षाओं के निरस्त होने की सूचना से पहले अभ्यर्थी निजी बस संचालकों से अपनी टिकटों की एडवांस बुकिंग करा चुके थे। केवल महिला सुपरवाइजर भर्ती परीक्षा के लिए ही बांसवाड़ा से अजमेर जाने वाली महिलाओं की संख्या 200 के करीब बताई गई। इसके चलते यहां से तीन अतिरिक्त बसें शनिवार शाम को रवाना होनी थी। इनमें कई अभ्यर्थियों ने एडवांस टिकट बुकिंग करवाई। बांसवाड़ा से अजमेर तक स्लीपर के लिए 700 रुपए तक निजी ट्रावेल्स वालों ने वसूले, पर दोपहर तक अभ्यार्थियों को परीक्षा निरस्त के होने की स्पष्ट जानकारी नहीं लगी। कई अभ्यर्थी ग्रामीण क्षेत्र से जिला मुख्यालय के लिए रवाना भी हो गए। फिर अपराह्न बाद परीक्षा निरस्त की जानकारी लगी तो वे निजी ट्रावेल्स संचालकों के पास टिकट कैंसल कराकर राशि लेने पहुंचे तो ट्रावेल्स संचालक भी परेशानी में आ गए। एक साथ बड़ी संख्या में टिकट और विशेष बस व अतिरिक्त स्टाफ की व्यवस्था निरस्त करना टेढ़ा काम होने से बस संचालकों ने टिकट राशि लौटाने से इनकार कर दिया।
जब होगी तब ले जाएंगे
अभ्यर्थियों ने बताया कि ट्रावेल्स संचालकों ने टिकट राशि लौटाने के बजाय यह कहकर टाल दिा कि जब परीक्षा होगी, तब के लिए एडवांस बुकिंग रहेगी। अब अभ्यर्थी इस मुसीबत में फंस गए कि परीक्षा की अगली तारीख कब आएगी और परीक्षा केन्द्र दूसरा हुआ, तो क्या होगा ? इसके अलावा तब तक टिकट संभालना भी मुश्किल रहने से कई अभ्यर्थी परेशान हो गए।