बांसवाड़ा : गजब कर दी… स्वाइन फ्लू से महिला की मौत के 5 दिन बाद भी विभाग मानने को नहीं तैयार, रिपोर्ट मेें आंकड़ा शून्य

बांसवाड़ा. राज्य में स्वाइन फ्लू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है और चिकित्सा विभाग के अफसर त्वरित कार्रवाई के बजाय मौतों को छिपाकर मामले की गंभीरता पर पर्दा डालने में लगे हैं। जिले में भी स्वाइन फ्लू दस्तक दे चुका है और लोहारिया की महिला की इससे मौत हो गई, लेकिन विभाग जिले में मौत का आंकड़ा शून्य ही दर्शा रहा है और इससे सरकार और उच्चाधिकारी भी अंधेरे में हैं। गौरतलब है कि लोहारिया मूल की प्रवीणा जैन की गत दिनों अहमदाबाद के अस्पताल में मौत हो गई थी। उसकी जांच रिपोर्ट में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी और इसके बाद जब विभाग के पास सूचना आई तो उसने लोहारिया में उसके घर पहुंचकर परिजनों और संपर्क में आए लोगों को टेमी फ्लू भी दी थी। हालांकि इस काम में भी लापरवाही यह हुई किे महिला अस्थायी तौर पर शहर के गांधी मूर्ति इलाके में रह रही थी और सबसे पहले वहीं उसे एम जी अस्पताल ले जाया गया और इसके बाद मोड़ासा और वहां से अहमदाबाद ले जाया गया लेकिन शहर में विभाग ने कोई बचाव के उपाय नहीं किए। महिला की मौत के बाद भी विभाग ने इस मौत को पांच दिन बाद भी माना नहीं है और आंकड़े में दिखाने की जरूरत अब तक नहीं समझी है। वह अपनी रिपोर्ट शून्य ही बता रहा है।
विभाग के अधिकारियों का तर्क है कि उनके पास इसकी रिपोर्ट नहीं आई। अब सवाल यह है कि उसने फिर किस आधार पर लोहारिया पहुंचकर महिला के संपर्क में आए लोगों को टेमी फ्लू दे दी। सूचना क्रांति के इस युग में रिपोर्ट में पाने में उसे क्या परेशानी हो सकती है। साफ है विभाग संवेदनशीलता नहीं दिखा पाया है। विभाग अब भी दो संदिग्धों की टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव ही बता रहा है।
यह है संभाग की स्थिति
उदयपुर में 7, प्रतापगढ़ व राजसंमद में 2, डंूगरपुर में 01, बांसवाड़ा व चित्तौड़ में मृतकों की संख्या 0 बताई जा रही है। बांसवाड़ा का कॉलम शून्य ही बताया जा रहा हैं।
प्रदेश में अब तक 2793 मरीज पॉजीटिव
चिकित्सा विभाग के अनुसार शुक्रवार को कोटा, जोधपुर, हनुमानगढ़ और दौसा में 1-1 मरीज की मौत हो गई। जयपुर में एसमएस अस्पताल के मृतकों की संख्या जोडऩे के बाद मृतक संख्या 107 हो गई है। वहीं 87 नए पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। नए मामलों में सर्वाधिक 43 मरीज जयपुर से हैं, जबकि 9 बाड़मेर और 4-4 उदयपुर, दौसा से हैं। इस साल प्रदेश में अब तक 2793 मरीज पॉजिटिव मिल चुके हैं।
रिपोर्ट नहीं मिली
अब तक मृतका के लेब टेस्ट व अन्य रिपोर्ट नहीं मिली है। लेब टेस्ट की रिपोर्ट आने के बाद स्वाइन फ्लू के विषय में स्थिति स्पष्ट होगी।
पीआर मीना, सीएमएचओ बांसवाड़ा