बड़ी खबर : तीन माह में मुख्यमंत्री के गृह जिले में स्वाइन फ्लू ने मचाया सबसे ज्यादा हाहाकार, 33 लोगों की मौत और…

बांसवाड़ा. प्रदेश में स्वाइन फ्लू को लेकर हाहाकार के हालात जरूर कम हो गए हैैं, लेकिन पिछले करीब ढाई माह में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर में स्वाइन फ्लू ने सबसे ज्यादा कहर ढाया और सबसे ज्यादा 33 लोगों की जानें ली है। चिकित्सा विभाग की ओर से गुरुवार को जारी की गई सूची के मुताबिक प्रदेश में इस वर्ष एक जनवरी से 14 मार्च तक स्वाइन फ्लू ने 4650 लोगों को चपेट में लिया, जिनमें से 176 लोगों की मौत हो गई। विभाग की सूची के मुताबिक स्वाइन फ्लू से पीडि़त की मौत के मामले में बाड़मेर दूसरे नंबर पर रहा, जहां 16 लोग मौत के शिकार हुए। राजधानी जयपुर तीसरे नंबर पर रहा जहां 14 मौतें हुई। इसके बाद कोटा में 13 और उदयपुर व चूरू मेेंं 10-10 लोग मौत के शिकार हुए। आलोच्य अवधि में 33 जिलों में स्वाइन फ्लू के संदेह पर कुल 25193 लोगों की जांच की गई, जिनमें 11023 की जांच जयपुर में की गई और शेष तकरीबन 15 हजार की जांचें अन्य 32 जिलों में हुई।

जिलेवार स्थिति
जिला पीडि़त मौतें
जोधपुर 440 33
बाडमेर 248 16
जयपुर 1991 14
कोटा 211 13
उदयपुर 263 10
चूरू 66 10
बांसवाड़ा 5 01
जालोर 13 01
करौली 36 02
सवाई माधोपुर 52 01

यहां शून्य
धौलपुर 6 0
सिरोही 8 0
बारां 19 0
झालावाड़ 21 0