बच्चियों की खरीद-फरोख्त कर वेश्यावृत्ति में धकेलने का मामला: विभिन्न स्थानों पर दबिश, पूछताछ, चार युवतियों को सखी सेंटर भेजा

भीलवाड़ा।

 

case human trafficking girls dealजिला पुलिस ने बच्चियों की खरीद-फरोख्त कर उनको देह व्यापार में धकेलने के मामले में रविवार को भी छानबीन जारी रखी। जयपुर से आए अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक नितिनदीप ब्लग्गन की अगुवाई में अधिकारियों ने पंडेर थाने को जांच का केन्द्र रखा।

 

case human trafficking girls dealपुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर ने बताया कि पंडेर क्षेत्र की कॉलोनी, मांडलगढ़ में हुरड़ा बाइपास, गंगापुर के साथ बारां जिले के छबड़ा में जरामपेशा वर्ग के ठिकानों पर दबिश देकर करीब डेढ़ सौ लोगों से पूछताछ की गई। इस दौरान महिलाओं, युवतियों व अन्य किशोरियों से भी पूछताछ की गई। छानबीन के दौरान चार किशोरियां मिली जिनके परिजनों के बारे में पुलिस को पता नहीं लगा। इनमें दो नाबालिग हैं।

शाहपुरा एएसपी अनुकृति उच्चेनिया ने चारों को बाल कल्याण समिति के सक्ष पेश कर सखी सेंटर भिजवाया। इनके परिजनों के बारे में पता किया जा रहा है।

गौरतलब है कि बच्चियों की खरीद-फरोख्त में case human trafficking girls deal संदिग्ध भूमिका पर हनुमाननगर पुलिस के हैड कांस्टेबल अशोक सोनी को शनिवार को निलंबित कर दिया गया था। देर रात थानाप्रभारी राजकुमार नायक की भी लापरवाही मानते हुए लाइन हाजिर कर दिया गया था। क्षेत्र के इटूंदा व सावर (अजमेर) में बालिकाओं का अपहरण कर उनको वेश्यारवृत्ति में धकेलने की पुलिस को शिकायत मिली थी।