फादर्स डे पर जिंदगी और मौत से लड़ रहे पिता को बेटी ने दिया ऐसा अनमोल तोहफा, जानकर आपकी आंखे भी हो जाएंगी नम

बांसवाड़ा. आनंदपुरी. कोई बिरले ही पुत्र-पुत्री होते हैं जो अपने माता-पिता का कर्ज अदा कर पाते हैं। ऐसा ही एक अनूठा उदाहरण आनन्दपुरी की एक बेटी ने अपने पिता को किडनी देकर पेश किया है। आनंदपुरी के जिला परिषद सदस्य मोहनलाल ताबियार को उनकी बेटी हिना ताबियार ने किडनी देकर फादर्स डे से दो दिन पहले पिता का कर्ज अदा कर समाज में एक मिसाल कायम की। वहीं किडनी ट्रासप्लांट करने वाले चिकित्सकों के अनुसार एक अविवाहित बेटी द्वारा पिता को किडनी दान करने के ऐसे मामले बहुत कम ही आते हैं।

हिना ने कहा कि मैं बहुत भाग्यशाली हूं, पिता को अंगदान कर नया जीवन दान देने का ऐसा मौका मिला। तीन माह पूर्व ताबियार की तबीयत बिगडऩे पर दोस्त अनिल टेलर व बेटी हिना ने उन्हें गुजरात के लुनावाडा के अस्पताल में दिखाया। जहां डॉक्टर ने दोनों किडनियां खराब होना बताया। इस पर पूरा परिवार सदमें में आ गया, लेकिन बेटी ने हिम्मत बढ़ाते हुए कहा कि वह अपने पिता का जीवन बचाने के लिए किडनी देगी। इसके बाद ताबियार का अहमदाबाद के एक अस्पताल में ऑपरेशन कराया गया जहां उनका उपचार चल रहा है। ताबियार ने बेटी पर गर्व करते हुए नम आखों से शुक्रिया अदा किया।

कौशल विकास अभिरुचि शिविर का समापन
बांसवाड़ा. राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड के तत्वावधान में कौशल विकास अभिरुचि शिविर का समापन रविवार को हुआ। मुख्य अतिथि स्टेट कमिश्नर रघुवीर सिंह शेखावत, विशिष्ट अतिथि जगमाल सिंह बांसवाड़ा, एसडीएम विरमाराम, उप प्रधान निमेष मेहता, मण्डल सचिव सुरेश चन्द्र, सहायक राज्य संगठन आयुक्त मानमहेन्द्र सिंह भाटी, पवन सर्राफ, भगवानलाल राठौड़, प्राचार्य सुशील कुमार जैन व सुमन द्विवेदी ने प्रदर्शनी में फीता काट उद्घाटन किया। मुख्य अतिथि शेखावत ने कहा स्काउटिंग 216 देशों में चलने वाला एकमात्र पवित्र वर्दीधारी संगठन है। बालक बालिकाओं में लीडरशिप का गुण स्काउट की गतिविधि से ही पनपता है।