प्रतापगढ़: मेडिकल जांच कराने से महिला ने किया इनकार, कहा- बलात्कार नहीं किया

प्रतापगढ़। घंटाली थाना इलाके की एक विवाहिता की ओर से पति समेत ससुराल के लोगों पर सामूहिक बलात्कार का मामला प्रथमदृष्टया फर्जी निकला। पुलिस की अब तक की जांच में इस मामले में कुछ अलग ही तथ्य सामने आए हैं। महिला ने मेडिकल जांच कराने से मना कर दिया है। महिला ने अपने बयान में कहा कि उसके साथ कोई बलात्कार नहीं हुआ है। हालांकि मारपीट और जंजीर से बांधने का मामला सही पाया गया है।

जांच अधिकारी पीपलखूंट के पुलिस उप अधीक्षक ओमप्रकाश गौतम ने बताया कि इस मामले में दोनों पक्ष घंटाली थाने पहुंचे। जहां से पुलिस अधिकारी और महिला पुलिस को लेकर वे महिला के पीहर और ससुराल में पहुंचे। यहां ग्रामीणों और परिजनों से बयान लिए है। इसमें सामने आया है कि महिला अपने पति से छुटकारा पाना चाहती है।

जंजीरों से बांधकर किया विवाहिता से सामूहिक बलात्कार, पति और रिश्तेदारों पर लगाया आरोप

वह गांव के किसी युवक के साथ रहना चाहती है। इसी के चलते उसने सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया है। जबकि जंजीर बांधने का मामला सही पाया गया है। जो उसके पति ने इस कारण बांधी थी कि वह घर से वापस उसके प्रेमी के साथ नहीं भाग सके। लेकिन महिला ने यह जंजीर को खोल दी थी और अपने साथ पीहर ले गई। पुलिस ने कहा कि अभी अनुसंधान चल रहा है। इसमें जो भी जांच सामने आएगी, उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि जिले के घंटाली थाना इलाके की एक विवाहिता ने अपने पति और उसके रिश्तेदारों पर सामूहिक बलात्कार करने व जंजीरों से बांधकर रखने का आरोप लगाया था। दूसरी ओर विवाहिता का पति भी अपने दो मासूम बच्चों को लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा। जहां उसने ससुर पर रुपयों के लिए उसकी पत्नी को गांव के अन्य युवक को बेचने व बलात्कार व जंजीरों से बांधने का झूठा आरोप लगाया था। पुलिस ने इसे भी जांच में लिया था।