प्रतापगढ़ जिले की दलोट, मूंगाणा, सुहागपुरा व बारावरदा होंगी नई पंचायत समिति

प्रतापगढ़ जिले की दलोट, मूंगाणा, सुहागपुरा व बारावरदा होंगी नई पंचायत समिति

आपत्तियां 29 अगस्त तक प्रस्तुत कर सकेंगे
प्रतापगढ़. जिले की पंचायत समितियों के पुनर्सीमांकन, पुनर्गठन, नवसृजन करने को लेकर जिला कलक्टर श्यामसिंह राजपुरोहित ने धारा 9 एवं 101 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए एक माह की अवधि अर्थात 29 अगस्त 2019 तक जन साधारण आपत्तियां प्रस्तुत कर सकेंगे।
जिला कलक्टर ने बताया कि उक्त अवधि की समाप्त से पूर्व कोई भी व्यक्ति अपनी आपत्तियां संबंधित उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार अथवा जिला कलक्टर कार्यालय में प्रस्तुत कर सकता है। उन्होंने बताया कि उपखण्ड कार्यालय, तहसील कार्यालय, पटवार मुख्यालय, पंचायत समिति कार्यालय एवं अधिनस्थ समस्त ग्राम पंचायतों पर नोटिस बोर्ड पर चस्पा करें।प्रतापगढ़ जिले में वर्तमान में चार नई पंचायत समिति दलोट में ग्राम पंचायत 24, मुंगाणा में 21, सुहागपुरा में 22 व बारावरदा पंचायत समिति में 32 ग्राम पंचायत व नई ग्राम पंचायत बनाई जाना प्रस्तावित है। जिला कलक्टर ने सार्वजनिक सूचना में बताया कि दलोट पंचायत समिति में प्रस्तावित ग्राम पंचायत व नई ग्राम पंचायत में दुधिया तालाब, सालमगढ़, जीरावता, बड़वास कला, चन्देरा, दलोट, रायपुर, सातमहुड़ी, सेवना, कुम्हारियों का पठार, रायपुर जंगल, निनोर, बोरदिया, चैखली पीपली, कानगढ़, खुटवास, आम्बीरामा, बड़ी साखथली, भाटभमरिया, बांसलाई, उंठेल, बोरी अ, लिलिया व लुहारखाली ये 24 ग्राम पंचायत सम्मिलित है।इसी तरह से मुंगाणा पंचायत समिति में ग्राम पंचायत व नई ग्राम पंचायत में बोरदा, मुंगाणा, अणत, लोदिया, जुना बोरिया, हजारीगुढा, नया बोरिया, जगलावदा, आड़, मोखमपुरा, चरपोटिया, पारसोला, भरकुण्डी, मानपुर, लोडी माण्डवी, गोठडा, खुन्ता, माण्डवी, नाड, शकरकन्द व लिकणिया ये 21 ग्राम पंचायत सम्मिलित है। इसी तरह से सुहागपुरा पंचायत समिति में ग्राम पंचायत व नई ग्राम पंचायत में कचोटिया, पाडलिया, छरी, लाम्बाडाबरा, सेमलिया, सोडलपुर, केसरपुरा, राणा की हरवर, जामली, वीरपुर, पटेलिया, सुहागपुरा, मोटामायगा, पडावा, दतियार, मोटा धामनिया, तलाया, रतनपुरिया, धारियाखेडी, मोटीखेडी, रामपुरिया, कुशलपुरा ये 22 ग्राम पंचायत सम्मिलित है।इसी तरह से बारावरदा पंचायत समिति में ग्राम पंचायत व नई ग्राम पंचायत में देवगढ़, सामली पठार, चिकलाड, खूटगढ़, जोलर, मगरी, देवपुरा, ग्यासपुर, नकोर, टिला, जाम्बूखेडा, बारावरदा, खेडानाहरसिंह माता, सरीपिपली, मधुरातालाब, पाल, माण्डकला, मेरियाखेड़ी, ढिकनिया, खोरिया, केसरपुरा, बम्बोरी, बरडिया, काजली, रठांजना, बरखेडा, थडा, नारायणखेडा, कुलमीपुरा, बिहारा, धमोत्तर व बावडीखेड़ा ये 32 ग्राम पंचायत सम्मिलित है।
प्रतापगढ़. पाल ग्राम पंचायत से हाल ही में नवगठित माण्डकला ग्राम पंचायत में राजस्व ग्राम खलेल को जोडऩे तथा राजस्व गांव बलालिया को ग्राम पंचायत को पाल में यथावत रखने की मांग ग्रामीणों ने की है। ग्रामीणों ने बताया कि नई ग्राम पंचायत के लिए बलालीया जोडा जा रहा है। जो नई ग्राम पंचायत से 10 किलोमीटर दूरी पर है। ऐसे में नई ग्रामपंचायत गठित माण्डकला में नजदीक राजस्व ग्राम खलेल जो नई गठीत पंचायत से मात्र 2 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। राजस्व ग्राम बलालिया को ग्राम पंचायत पाल में यथावत रखा जाए।
धड़मगरा को निनोर में रखने की मांग
दलोट/प्रतापगढ़ ग्राम पंचायत पुनर्गठन में ग्राम धड़मगरा को ग्राम पंचायत निनोर से 6 किलोमीटर दूर बोरदिया में सम्मिलित किए जाने का विरोध किया है।इसे लेकर ग्रामीणों ने कलक्टर को ज्ञापन दिया है। धड़मगरा के लोगों ने बताया कि ग्राम पंचायत पुनर्गठन में ग्राम धडमगरा जिसकी आबादी 200 के करीब है।यहां से ग्राम पंचायत निनोर की दूरी मात्र 1 किलोमीटर से भी कम है। इसे वर्तमान सर्वे में ग्राम पंचायत बोरदिया में मिलाया जा रहा है। जो कि भौगोलिक दृष्टि से व हर प्रकार के दृष्टिकोण से अनुचित है। ग्राम धडमगरा निनोर पंचायत में रहा है।भौगोलिक दृष्टि से भी निनोर के पास पड़ता है। यदि ग्राम धडमगरा को बोरदिया ग्राम पंचायत में सम्मिलित कर दिया गया तो यहां की जनता को कई प्रकार की असुविधाओं के सामना करना पड़ेगा। विकास कार्य प्रभावित होंगे। ग्राम धडमगरा से बोरदिया की दूरी करीब 6 किलोमीटर है। जहां से कोई जुड़ाव भी नहीं है।
चकुंडा निकट गांव सिल्याखेडी में चकुंडा पंचायत को हटाकर नवी पंचायत खुट वास में जोड़ा गया इसके चलते गांव के लोग उपखंड अधिकारी अनोद व कलेक्ट्री पहुंचे वहां पर कलेक्टर को ज्ञापन देते हुए कहा कि हमें चकुंडा पंचायत में नहीं रखा गया तो आने वाले चुनाव में हम बहिष्कार करेंगे।