पुलिस के साप्ताहिक अवकाश का आदेश फिर डिब्बे में बंद

मेवाड़ किरण@नीमच -

नीमच। साप्ताहिक अवकाश वाले आदेश पर मप्र पुलिस ने बड़े ही उत्साह से रोस्टर प्लान तैयार कर जिले 750 पुलिसकर्मियोंं का नए साल से अवकाश देना प्रारंभ कर दिया। थानों में चस्पा रोस्टर के मुताबिक करीब 40 पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश जिले में शुरू हो गया था। लेकिन फिलहाल एक बार फिर पुलिसकर्मियों के साप्ताहिक अवकाश पर रोक लग गई है। इसके बाद पुलिसकर्मियों में मायूसी छा गई है। तकनीकी परीक्षण और सीएम द्वारा उद्घाटन की बात अधिकारियों द्वारा कही जा रही है, उसके बाद से साप्ताहिक अवकाश शुरू होंगे।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार साप्ताहिक अवकाश के इस होल्ड के पीछे तकनीकी परीक्षण बताया है, उन्होंंने कहा कि पहले दिन 40 पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश ट्रायल के रूप में दिया गया था। इस दौरान बड़े और छोटे थाने है, वहां पर क्या परेशानी हुई। इतने पुलिसकर्मियों को एक साथ छोडऩे पर क्या प्रभाव पड़ा। बल की कमी को कहां से कैसे पूरा किया। इसकी एक दो दिन में समीक्षा तैयार कर नए तरीके से रोस्टर प्लान तैयार कर साप्ताहिक अवकाश पर छोड़ा जाएगा। वहीं कुछ पुलिस अफसर इसके पीछे पुलिस मुख्यालय की भूमिका बता रहें है।

 

सीएम करेेंगे शुरूआत
पुलिस सूत्रों की माने तो डीजीपी ने साप्ताहिक अवकाश शुरू करने को लेकर नाराजगी जताई है। उनके आदेश को परीक्षण के बाद लागू करने के लिए कहा गया था, लेकिन आदेश मीडिया में वायरल हो गया। पुलिस ने रोस्टर बनाकर उसे लागू कर दिया। सूत्रों के अनुसार इस सुविधा की शुरूआत मुख्यमंत्री कमलनाथ के माध्यम से कराए जाने की पीएचक्यू की तरफ से तैयारी थी। २६ जनवरी को सीएम घोषणा कर सकते है। इसके लिए जिले के अफसरों को पीएचक्यू तलब किया गया था। इसके अवकाश को रद्द करने का निर्णय लिया गया।

 

अभी फिलहाल पाक्षिक अवकाश शुरू है
साप्ताहिक अवकाश बंद नहीं किया है। जिला पुलिस ने ट्रायल किया था। अवकाश देने के बाद होने वाली असुविधा और उसकी रणनीति पर मंथन किया जा रहा है। समीक्षा के बाद सीएम इसकी शुरूआत करेंगे। थानों में तैनात हर कर्मचारी को रोस्टर प्लान के तहत अवकाश मिलेगा।
- जितेंद्र सिंह पंवार, एएसपी नीमच।