पीपरड़ा में होटल के पीछे से चल रहा था अवैध ठेका, दो लाख की शराब जब्त

राजसमंद. राष्ट्रीय राजमार्ग आठ पर पीपरड़ा के पास पेट्रोल पम्प के सामने स्थित श्रीराम भोजनालय होटल के पीछे बिना लाइसेंस के अवैध दुकान खोल शराब बेची जा रही थी। राजनगर थाना पुलिस ने शनिवार देर रात दबिश दी, तभी सेल्समैन दुकान छोडक़र फरार हो गया। जब्त शराब का बाजार मूल्य दो लाख रुपए बताया जा रहा है। क्षेत्र के होटल, ढाबो पर आए दिन खुलेआम शराब परोसी जा रही है, मगर न तो पुलिस द्वारा कोई नियमित कार्रवाई की जाती है और न ही आबकारी महकमा गंभीर है।
थाना प्रभारी प्रवीण टांक ने बताया कि हाइवे किनारे अवैध तरीके से रात आठ बजे बाद शराब बिकने की शिकायत मिली। एएसआई मोहनसिंह, हैड कांस्टेबल विरेंद्रसिंह, सुरेश कुमार, नारायणलाल पीपरड़ा में श्रीराम भोजनालय के पीछे गए, जहां अवैध तरीके से शराब बेची जा रही थी। शराब की अवैध दुकान ही खोल रखी थी, जहां अंगे्रजी, देसी शराब के अलावा बियर के कर्टन भी पड़े मिले। दुकान में बियर ठंडी करने के लिए डी- फ्रीज भी रख रखा था। पुलिस ने दुकान में पड़ी सभी शराब जब्त कर ली, जिसकी बाजार कीमत दो लाख रुपए के करीब बताई जा रही है। शराब जब्त करने के बाद पुलिस की जांच में पता चला कि देवथड़ी निवासी दिनेश पुत्र शांतिलाल कुमावत द्वारा शराब की दुकान चलाई जा रही थी, जिनके द्वारा लंबे समय से बिना लाइसेंस के शराब की दुकान खोल दी और निर्धारित समय के बाद भी देर रात तक शराब परोसी जारही थी।

11 तरह की अंगे्रजी शराब
दुकान में 11 तरह की अंगे्रजी शराब के कर्टन मिले। इसी तरह तीन तरह की बियर व तीन तरह की देसी शराब के कर्टन मिले। पुलिस ने शराब के सभी कर्टन बरामद कर लिए।

होटल-ढाबे में खुलेआम पी रहे
पीपरड़ा में हाइवे किनारे होटल व ढाबे में खुलेआम लोग देर रात तक शराब पी रहे हैं। लंबे समय से अवैध शराब बिक्री का काला कारोबार चल रहा था। कुछ ऐसे ही हालात हाइवे पर नाथद्वारा, राजसमंद से लेकर राजनगर, केलवा तक कई होटलों के बने हुए हैं।

एक की आड़ में दो दो अवैध दुकानें
शहर-देहात में शराब ठेकेदारों द्वारा एक एक दुकान की आड़ में तीन से चार चार अवैध शराब दुकानें खोल रखी है। फिर भी न तो आबकारी महकमे द्वारा कोई ध्यान दिया जा रहा है और न ही पुलिस गंभीर है।