पहले स्थान पर रहने वाला भीलवाड़ा देश में ४२वें स्थान पर

भीलवाड़ा।
jal shakti abhiyaan बरसाती पानी रोकने के लिए जिले में चार साल पहले मुख्यमंत्री जलस्वावलंबन अभियान के तहत रायपुर में हुए कार्य के कारण भीलवाड़ा प्रदेश में प्रथम रहा था। रायपुर को मॉडल मानते हुए प्रदेश में काम करने के निर्देश दिए थे। जिले में तीनों चरणों में सभी कार्य पूरे हुए थे। देशभर में 1 जुलाई से जलशक्ति अभियान शुरू हुआ। देश के 252 जिलों में से भीलवाड़ा को 4३वीं रैंक मिली है। जिले को 90 में से १६.१४ अंक ही मिले हैं। इसका सबसे बड़ा कारण अभियान में अधिकारियों ने रुचि नहीं दिखाई है। इसके अलावा एनिकट, चेकडैम, बोरवेल रिचार्ज, वाटरशेड विकास में ज्यादा अंक नहीं मिले। हालांकि इस बात को लेकर सन्तोष है कि प्रदेश में भीलवाड़ा तीसरे स्थान पर है। जैसलमेर (१८.५७) प्रथम तथा बाड़मेर (१६.४१) दूसरे स्थान पर रहा है।

https://www.patrika.com/sawai-madhopur-news/central-team-of-the-jal-shakti-abhiyan-field-visits-4822371/

जिले में होने हैं पांच कार्य
jal shakti abhiyaan जलशक्ति अभियान में देश के 252 जिलों में भीलवाड़ा को भी शामिल किया गया है। यहां पांच तरह के काम होने हैं। इसमें वाटर कंजर्वेशन और स्टोरेज में पानी स्टोरेज, ताल तलैया और नेचुरल पोंड-पार्क निर्माण होना है। दूसरा काम चेकडैम-एनिकट निर्माण, तीसरा बोरवेल रिचार्ज, चौथा वाटरशेड विकास और पांचवां प्लांटेशन। वन विभाग को २ लाख ५६ हजार ३८५ पौधे रोपने का लक्ष्य दिया गया है। जिले के १२ ब्लॉक में से प्रत्येक में २१ हजार ३६५ पौधे लगाए जाने हैं। बरसाती पानी को रोकने के लिए जिले में जलशक्ति अभियान के तहत वाटर स्ट्रक्चर बनाए जाने हैं, लेकिन मानसून सीजन में वाटर स्ट्रक्चर बनाने में ठेकेदार रुचि नहीं दिखा रहे है।

इनमें पिछड़ रहा भीलवाड़ा
अभियान की रैंकिंग में जल संरक्षण व वाटर हार्वेस्टिंग में14 में से ०.४९ अंक मिले हैं। परंपरागत जलस्रोतों के कायाकल्प में 14 में से ३.५४ अंक ही मिल पाए हैं। इसी तरह जल संरचनाओं को रिचार्ज करने में 14 में से ०.७१ अंक मिले हैं। वाटरशेड विकास में 14 प्रतिशत में से ०.९८ प्रतिशत अंक मिले। इंटेन्सिव एफॉरेस्टेशन में 14 प्रतिशत में से ०.१६ प्रतिशत अंक मिले। ब्लॉक और जिला कनवर्जेशन प्लान में 10 प्रतिशत में से १० अंक मिले। केवीके मेलों के आयोजन में10 में से ०.२६ अंक मिले हैं। कुल १६.१४ प्रतिशत अंक ही मिले।

प्रदेश की स्थिति
रैंक जिला अंक
29 जैसलमेर 18.57
40 बाड़मेर 16.41
43 भीलवाड़ा 16.14
49 चूरू 15.65
50 सवाईमाधोपुर 15.57
57 प्रतापगढ़ 14.88
60 बूंदी 14.57
61 बारां 14.56
73 टोंक 13.79
77 उदयपुर 13.60
78 जोधपुर 13.56
93 राजसमंद 13.00
95 जालोर 12.96
96 अजमेर 12.94
98 भरतपुर 12.60
100 करौली 12.56
103 जयपुर 12.38
105 अलवर 12.31
111 धौलपुर 12.08
113 सीकर 12.04
115 नागौर 12.00
116 सिरोही 11.99
118 चित्तौडग़ढ़ 11.94
119 पाली 11.91
120 कोटा 11.78
124 झुंझुनूं 11.53
150 झालावाड़ 10.00
158 बीकानेर 7.91
162 दौसा 7.51