पहले ठगी से कमाए करोड़ों रुपए, अब हुआ यह हाल


प्रतापगढ़. हथुनिया थाना पुलिस ने इनाम का लालच देकर लोगों को ठगने के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपी कंपनी का सदस्य बनाने की एवज में इनाम देने का बहाना बनाकर लोगों से रुपए ऐंठते थे।
पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी मध्यप्रदेश के झाबुआ थाना क्षेत्र के कालिया छोटा गांव का विनोद पिता मोतीसिंह लबाना, झाबुआ के किशनपुरा गांव का राजेन्द्र पिता कालूसिंह लबाना, गुजरात दाहोद के बलैया गांव का बाबूलाल पिता रमण भाई लबाना, बांसवाड़ा के खंभेरा थाना क्षेत्र के बडैता गांव निवासी भूरालाल पिता शंकरलाल रावल जागी है। इनके खिलाफ हथुनिया थाने के अवलेश्वर निवासी पप्पूलाल कुमावत ने एक वर्ष पहले रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें बताया गया कि आरोपियों की बांसवाड़ा में माई इंटरप्राइजेज मैनेजमेंट नाम से कंपनी थी। आरोपियों ने उससे सम्पर्क कर कहा कि उसकी कंपनी का सदस्य बनाने पर इनाम में फ्रीज, कूलर एसी आदि का इनाम दिया जाएगा। कंपनी का सदस्य बनने पर साढ़े चार हजार रुपए का सदस्यता शुल्क देना होगा। वह आरोपियों के झांसे में आ गया। उसने अपने प्रभाव से ३३६ लोगों को सदस्य बना दिया। सभी से ४५०० रुपए लेकर कंपनी में जमा करा दिए। इस तरह उसने १५ लाख १२ हजार रुपए एकत्र कर आरोपियों को दे दिए। लेकिन कंपनी की तरफ से कोई इनाम नहीं दिया गया। जब आरोपियों से सम्पर्क किया गया तो बांसवाड़ा में कंपनी कार्यालय के ताले लगाकर आरोपी भाग चुके थे।
पप्पूलाल ने एक साल पहले उनके खिलाफ अदालत इस्तागसे के जरिए एफआईआर दर्ज कराई। इस पर आरोपियों ने राजीनामा कर लिया। लेकिन राजीनामे के अनुसार रकम नहीं लौटाई। इस अदालत ने एफआईआर वापस खोलकर जांच शुरू करने के आदेश दिए।
मामले के जांच अधिकारी हथुनिया थाने के सहायक पुलिस उपनिरीक्षक शिवलाल ने बताया कि जांच के बाद उन्होंने आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां गुरुवार को उन्हें अदालत ने न्यायिक अभिरक्षा के तहत जेल भेजने के आदेश दिए।